scriptQueen misses UK parliament opening for first time since 1963 | 1963 के बाद पहली बार हुआ ऐसा, जब महारानी नहीं हुईं शामिल... | Patrika News

1963 के बाद पहली बार हुआ ऐसा, जब महारानी नहीं हुईं शामिल...

ब्रिटेन की संसद का उद्घाटन सत्र: 1959 और 1963 में भी रही थीं अनुपस्थित

जयपुर

Published: May 11, 2022 01:40:29 am

लंदन. महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (Queen Elizabeth II) की गैर-मौजूदगी में मंगलवार को ब्रिटेन की संसद का सत्र शुरू हुआ। 96 वर्षीय महारानी स्वास्थ्य कारणों से सत्र का उद्घाटन अभिभाषण पढ़ने नहीं पहुंचीं। उनकी जगह उनके बेटे प्रिंस चार्ल्स (Prince Charles, Prince of Wales) ने अभिभाषण पढ़ा। इस दौरान संसद में इंपीरियल स्टेट क्राउन (Imperial State Crown) भी रखा गया था। यही नहीं, डचेस ऑफ कॉर्नवाल कैमिला (Camilla, Duchess of Cornwall) और प्रिंस विलियम (Prince William, Duke of Cambridge) भी वहां मौजूद थे। महारानी के शासनकाल में यह तीसरा मौका था, जब वह संसद के उद्घाटन सत्र में शामिल नहीं हुईं। इससे पहले वह गर्भवती होने के कारण वर्ष 1959 और 1963 में संसद के उद्घाटन सत्र में शामिल नहीं हो सकी थीं।
1963 के बाद पहली बार हुआ ऐसा, जब महारानी नहीं हुईं शामिल...
1963 के बाद पहली बार हुआ ऐसा, जब महारानी नहीं हुईं शामिल...
अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने पर जोर
ब्रिटेन की कंजर्वेटिव सरकार (Britain’s Conservative government) ने संसद सत्र के दौरान अपराध की घटनाओं में कमी, स्वास्थ्य देखभाल में सुधार और महामारी से प्रभावित अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के व्यापक वादे किए। अभिभाषण के दौरान सरकार की ओर से 38 विधेयकों को पेश किए जाने की योजना के बारे में बताया गया। अभिभाषण में वादा किया गया कि प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) का प्रशासन अर्थव्यवस्था को विकसित और मजबूत कर महंगाई को कम करने की दिशा में काम करेगा। सरकार ने घरेलू ईंधन और खाद्य पदार्थों की बढ़ती कीमतों से जूझ रहे परिवारों को राहत देने के लिए कुछ उपायों की भी घोषणा की।
जॉनसन ने अभिभाषण से पहले कहा कि सरकार द्वारा किए गए उपायों से देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार का ध्यान जीवन यापन की लागत को कम करने और अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने पर है। हालांकि सत्र में बढ़ते किराना और बिजली बिलों के लिए खास उपायों की घोषणा नहीं की गई है। ब्रिटेन की मुद्रास्फीति दर सात प्रतिशत तक पहुंच गई है और घरेलू ईंधन की कीमतें और भी अधिक बढ़ गई हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.