scriptRaag Malhar played on the violin felt the rain | वायलिन पर बजा राग मल्हार तो हुआ बारिश का आभास | Patrika News

वायलिन पर बजा राग मल्हार तो हुआ बारिश का आभास

जवाहर कला केंद्र में रविवार की शाम बड़ी धुनमयी रही। वायलिन की धुन सुनकर श्रोताओं ने रंगायान सभागार में आभासी बारिश का आनंद लिया। मौका था जेकेके की ओर से आयोजित राग मल्हार कार्यक्रम का।

जयपुर

Published: July 24, 2022 09:23:57 pm

वायलिन पर बजा राग मल्हार तो हुआ बारिश का आभास
राग मल्हार उत्सव में पिता-पुत्र की जोड़ी ने बांंधा समा

जयपुर। जवाहर कला केंद्र में रविवार की शाम बड़ी धुनमयी रही। वायलिन की धुन सुनकर श्रोताओं ने रंगायान सभागार में आभासी बारिश का आनंद लिया। मौका था जेकेके की ओर से आयोजित राग मल्हार कार्यक्रम का। जयपुर के पंडित कैलाश चंद्र मोठिया और उनके बेटे योगेश चंद्र मोठिया की जुगलबंदी ने वायलिन पर धुन छेडक़र मेघों का आह्वान किया।
पंडित कैलाश मोठिया और योगेश चंद्र ने विदेशी वाद्य यंत्र वायलिन पर बखूबी भारतीय राग मल्हार बजाई। तबले पर परमेश्वर लाल कत्थक व पखावज पर डॉक्टर त्रिपुरारी सक्सेना ने संगत की। कार्यक्रम इंद्र देवता को प्रसन्न करने का यह बड़ा प्रयास रहा। राग मल्हारी आलाप से कार्यक्रम का आगाज हुआ। इसके बाद जोड़ आलाप, द्रुत गति में झाला, तीन ताल में विलंबित मसीतखानी गतए मध्यलय तीन ताल में विलंबित रजाखानी गत बजाई। पंडित कैलाश मोठिया ने पंडित विश्व मोहन भट्ट रचित धुन द मिटिंग बाई रिवर पेश की तो श्रोता झूम उठे। इसके बाद उन्होंने राग दरबारी, वंदे मातरम् और अंत में राग भैरवी की प्रस्तुति दी।
रावणहत्थे से प्रेरित है वायलिन
पंडित कैलाश मोठिया ने बताया कि वायलिन की खोज भले ही जर्मनी में हुई हो लेकिन वह भारतीय वाद्य यंत्र रावणहत्थे से प्रेरित है। रावण ने रावणहस्त्रम नामक वाद्य यंत्र बनाया था जो बाद में रावणहत्था कहलाने लगा।
वायलिन को दिया भारतीय रूप
कैलाश मोठिया ने 10 वर्ष की मेहनत के बाद एक खास तरह का वायलिन कैलाश रंजनी बेला तैयार किया है। उन्होंने बताया कि इसमें चार की जगह पॉंच मुख्य तार है वहीं चौदह तरह के तार है। कार्यक्रम के दौरान मोठिया के पुत्र योगेश ने कैलाश रंजनी बेला बजाया।
वायलिन पर बजा राग मल्हार तो हुआ बारिश का आभास
वायलिन पर बजा राग मल्हार तो हुआ बारिश का आभास

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

ओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानिभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें List
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.