एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है मूली

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है मूली

Archana Kumawat | Publish: Nov, 30 2018 04:59:57 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

बॉडी का तापमान कम करने के साथ ही मूली शरीर का इंफ्लेमेशन दूर करने में भी असरदार होती है

डाइटरी फाइबर
मू ली डाइटरी फाइबर के लिए भी अच्छी होती है। यह भोजन को पचाने के साथ ही मेटाबॉलिज्म की दर को तेज करने का काम भी करती है। इसके अलावा मूली के सेवन से पेट भरा हुआ महसूस होता है। इस तरह ओवर इटिंग की आदत को भी कंट्रोल किया जा सकता है। यह मोटापे को भी कंट्रोल करने का काम करती है।

एंटीऑक्सीडेंट्स
ख ट्टे फलों और सब्जियों की तरह मूली में भी एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को फ्री रेडिकल्स से बचाने का काम करते हैं। साथ ही कैंसर कोशिकाओं की ग्रोथ को रोकने का काम भी करते हैं। इसमें कई तरह के महत्त्वपूर्ण खनिज पदार्थ जैसे पोटेशियम, आयरन, सोडियम और कैल्शियम भी अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। यह शरीर का मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने का काम करता है। साथ ही यह ऑक्सीजन को शरीर के विभिन्न अंगों तक पहुंचाने का काम भी करते हैं। इसमें गर्भावस्था से जरूरी मिनरल्स भी भरपूर मात्रा में होते हैं। ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए भी मूली फायदेमंद है।

विटामिन से भरपूर होती है मूली
विटामिन्स की पूर्ति के लिए भी मूली का सेवन किया जा सकता है। इसमें विटामिन ए, सी और के अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में मूली बहुत उपयोगी होती है। यदि रोजाना मूली का सेवन किया जाए तो इससे सेल्स का प्रोडक्शन भी बढ़ेगा और सेल्स को रिपेयर भी किया जा सकता है। मांसपेशियों के निर्माण के लिए भी मूली का सेवन करना लाभकारी है। मूली प्रोटीन का अच्छा सोर्स है। इसलिए मूली को अपनी डाइट में आवश्यक रूप से शामिल किया जाना चाहिए।

रक्तचाप रहेगा नियमित
मू ली में पोटेशियम की मात्रा अच्छी होती है। इसलिए उच्च रक्तचाप वाले लोगों को डाइट में मूली का सेवन अवश्य करना चाहिए। यह बीपी को कंट्रोल करने का काम करेगी। साथ ही यह ब्लड फ्लो को कम करने का काम भी करती है। हाइपेरटेंशन की समस्या से परेशान लोगों को मूली का सेवन करना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार मूली में रक्त को ठंडा करने के गुण भी होता है। इतना ही नहीं, कार्डियोवैस्कुलर डिजीज से बचने के लिए भी मूली का सेवन किया जा सकता है। इसमें विटामिन सी, फॉलिक एसिड और फ्लवेनॉइड होते हैं, जो हृदय को स्वस्थ रखते हैं।

बढ़ेगी रोग प्रतिरोधकता
शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भी मूली का सेवन किया जा सकता है। इसमें विटामिन सी का स्तर उच्च होता है। यह कफ और कोल्ड की समस्या से राहत दिलाता है। इसलिए इसका नियमित रूप से सेवन किया जाना चाहिए। इसके साथ ही हानिकारक रेडिकल्स, इंफ्लेमेशन और एजिंग की समस्या से बचाने में मूली प्रभावी होती है। इसमें पानी की मात्रा ज्यादा होती है, इसलिए शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए भी मूली कारगर है। आधा कप मूली से रोजाना के विटामिन सी की १५ फीसदी कमी दूर की जा सकती है।

सांस संबंधी समस्या
सांस संबंधी समस्याओं से राहत पाने के लिए भी मूली का सेवन करना कारगर होता है। यह नाक, गले और फेफड़ों का संक्रमण दूर करने का काम करते हैं। इसमें विटामिन भी भरपूर मात्रा में होते हैं, जो श्वसन तंत्र को इंफेक्शन से बचाने का काम करते हैं। इस तरह मूली कई तरह की समस्याओं से बचाने का काम करती है। इसके अलावा गले में दर्द की समस्या से परेशान हैं तो भी मूली का सेवन करना फायदेमंद होगा। यह साइनस को दूर करने में भी असरदार होता है। मधुमेह रोगियों के लिए भी नियमित मूली का सेवन लाभकारी है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned