संगीत की शिक्षा के लिए गुरु-शिष्य पद्धति सर्वश्रेष्ठ: पं.हनुमान सहाय

संगीत के क्षेत्र में जहां गुरु-शिष्य पद्धति का महत्व सदा ही रहा है, वहीं आधुनिक समय में विश्वविद्यालय उपाधियों का महत्व नकारा नहीं जा सकता। संगीत की शिक्षा के लिए गुरु-शिष्य पद्धति श्रेष्ठ है या संस्थागत पद्धति? यह हमेशा से बहस का विषय रहा है। यह कहना है शास्त्रीय व उपशास्त्रीय गायक पं.हनुमान सहाय वनस्थली वालों का। वरिष्ठ गायक पं.हनुमान सहाय ने रविवार को स्वागत जयपुर के फेसबुक पेज पर आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम द राइट प्लेटफार्म में अपने अनुभव साझा किए।

By: imran sheikh

Published: 23 Aug 2020, 06:49 PM IST

संगीत के क्षेत्र में जहां गुरु-शिष्य पद्धति का महत्व सदा ही रहा है, वहीं आधुनिक समय में विश्वविद्यालय उपाधियों का महत्व नकारा नहीं जा सकता। संगीत की शिक्षा के लिए गुरु-शिष्य पद्धति श्रेष्ठ है या संस्थागत पद्धति? यह हमेशा से बहस का विषय रहा है। यह कहना है शास्त्रीय व उपशास्त्रीय गायक पं.हनुमान सहाय वनस्थली वालों का। वरिष्ठ गायक पं.हनुमान सहाय ने रविवार को स्वागत जयपुर के फेसबुक पेज पर आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम द राइट प्लेटफार्म में अपने अनुभव साझा किए।

शो के होस्ट व सिंगर रहमान हरफनमौला के साथ संगीतज्ञ पं.हनुमान सहाय ने संगीत के सवालों का बखूबी जवाब दिया। करीब एक घंटे के कार्यक्रम में पं.हनुमान सहाय ने बताया कि किस प्रकार उन्होंने शास्त्रीय व उपशास्त्रीय संगीत के प्रचार—प्रसार के प्रयास किए। पंडित हनुमान सहाय का कहना था कि भारत देश धर्म प्रधान देश होने के कारण यहां हर विद्या के लिए गुरु बनाया जाता है। वह चाहे गुरूकुल में विद्यार्जन का केन्द्र हो या शिक्षण संस्थाएं हों। भारतीय माता-पिता का मानना है कि प्रत्येक बच्चे का रूझान अलग-अलग होना स्वाभाविक है। जिसमें वर्तमान में तो अधिकांश यही हो रहा है कि बच्चे अपने पैतृक कार्य में कम ही प्रवृत हो रहे हैं। अपवाद स्वरूप भले ही कोई बच्चा अपने पैतृक कार्य को करता हुआ पाया जाएगा अन्यथा कोई भी बच्चा ऐसा नहीं कर रहा है। ऐसे में अभिभावकों को चाहिए कि वह अपने बच्चों को भारतीय संस्कृति व सभ्यता के साथ—साथ संगीत से भी जोड़े ताकि उन्हें संस्कारों के बारे में जानकारी हासिल हो सके। शो के होस्ट रहमान हरफनमौला ने बताया कि ऑनलाइन कार्यक्रम द राइट प्लेटफार्म के प्रति कलाजगत का सहयोग मिल रहा है।

imran sheikh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned