रेल बजट: राजस्थान में बढ़ेंगी यात्री सुविधाएं, विकास पर पूरा फोकस

राजस्थान में रेल नेटवर्क को मजबूती मिलेगी, यात्री सुविधाएं बढ़ेंगी। साथ ही सालों से बजट के अभाव में अटके कार्य भी पूरे होंगे। केंद्र सरकार ने रेल बजट में राज्य को इस बजट में 4986 करोड़ रुपए दिए हैं।

By: santosh

Published: 04 Feb 2021, 10:46 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
जयपुर । राजस्थान में रेल नेटवर्क को मजबूती मिलेगी, यात्री सुविधाएं बढ़ेंगी। साथ ही सालों से बजट के अभाव में अटके कार्य भी पूरे होंगे। केंद्र सरकार ने रेल बजट में राज्य को इस बजट में 4986 करोड़ रुपए दिए हैं। यह वर्ष 2009 से वर्ष 2014 के औसत बजट के प्रति वर्ष बजट के मुकाबले 682 करोड़ रुपए अधिक है और 631 प्रतिशत भी ज्यादा है।

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक बजट के तहत 11 नई लाइनों का काम चल रहा है। जिनकी लंबाई 1238 किमी है और इसकी अनुमानित लागत 16248 करोड रुपए है। पांच आमान परिवर्तन परियोजनाओं का काम चल रहा है। इनकी लंबाई 1319 किमी है और अनुमानित लागत 12275 करोड़ रुपए है। इसी प्रकार 14 दोहरीकरण परियोजना का काम प्रगति पर है। जिसकी लंबाई 2626 किमी है व 28 हजार 724 करोड़ रुपए अनुमानित लागत है।

यह प्रोजेक्ट हो सकेंगे अब समय पर पूरे
- रेलवे अधिकारियों के मुताबिक अजमेर- बांगडग़्राम दोहरी करण अगले माह पूरा हो जाएगा। बांगडग़्राम से गुडिय़ा दोहरीकरण इसी साल मई माह में पूरा हो जाएगा। दौसा-गंगापुर सिटी नई लाइन इस साल नवंबर तक पूरी हो जाएगी। बीना- कोटा दोहरीकरण दिसंबर तक पूरा हो जाएगा। ऐसे में बजट आवंटन होने से अब यह काम निर्धारित समय पर पूरे हो जाएंगे।

पत्रिका ने बताई थी जरूरत
एक फरवरी को राजस्थान पत्रिका ने बजट को लेकर खबर प्रकाशित की। जिसमें राज्य में बजट की कमी से अटकी रेल परियोजनाओं की स्थिति से रूबरू कराते हुए इस बार बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर और रेल नेटवर्क को मजबूती देने पर जोर दिया गया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned