रेलवे लाएगा प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार की बहार

- उत्तर पश्चिम रेलवे ने मांगे अपने प्रोजेक्टस के लिए राज्य सरकार से मजदूर
- उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ने लिखा राज्य के मुख्य सचिव को पत्र

By: Sunil Sisodia

Updated: 26 Jun 2020, 12:43 PM IST

जयपुर।

कोरोना लॉकडाउन के दौरान विभिन्न राज्यों से प्रदेश के 22 से ज्यादा जिलों में लगभग 15 लाख मजदूर लौटे हैं। फिलहाल इन प्रवासी मजदूरों के पास रोजगार नहीं है इनके लिए जीवन यापन का संकट पैदा हो गया है। लेकिन उत्तर पश्चिमी रेलवे इन प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार की बहार लाने की तैयारी कर रहा है। कैबिनेट सचिव की रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष से चर्चा के बाद उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ने राज्य के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को पत्र लिख कर राज्य में चल रहे रेलवे प्रोजेक्ट के लिए इन जिलों में प्रवासी मजदूरों की मांग की है। रेलवे ने एक कदम आगे चलते हुए इन 22 जिलों में तो जिला प्रशासन से मजदूर लेने के लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त कर दिए हैं। जिससे धीमी गति से चल रहे प्रोजेक्टस को मजदूर मिल जाएं और काम की गति बढ़े।

यहीं मिलता रहेगा वर्षों तक रोजगार
उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक का यह पत्र राज्य के लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि रेलवे का एक एक प्रोजेक्ट पांच से दस साल तक चलता है। ऐसे में रेलवे परियोजनाओं में नियोजित होने वाले इन प्रवासी मजदूरों को लंबे समय तक रोजगार मिलता रहेगा और इन्हें फिर से राजस्थान से बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी। वहीं प्रदेश में एक दम से बढ़ी बेरोजगारी पर अंकुश लगाना आसान होगा।

ये काम होते हैं रेलवे प्रोजेक्टस के तहत
रेलवे अधिकारियों के अनुसार रेवले प्रोजेक्टस के तहत रेल ट्रेक का निर्माण, ट्रेक पर गिटटी डालना, अंडर पास और ओवर ब्रिज बनाने के लिए मिटटी खोदना और भरना जैसे कार्य होते हैं। ये सभी कार्य पांच से दस साल तक की अविधि तक चलने वाले होते हैं। लंबी अविधि तक चलने वाले होते हैं।

महाप्रबंधक ने ये लिखा पत्र में
उत्तर पश्चिमी रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश ने प्रदेश के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को केबिनेट सचिव राजीव गौबा और रेलवे बोर्ड अध्यक्ष के बीच हुई बैठक का हवाला देते हुए विभिन्न राज्यों से लौटे प्रवासी मजदूरों को रेलवे प्रोजेक्टस के लिए उपलब्ध कराने के लिए पत्र लिखा है। पत्र में आनंद प्रकाश ने राज्य सरकार की ओर से जिलेवार रेलवे को मजदूर उपलब्ध कराने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करने का आग्रह किया है।

प्रोजेक्टस को मिलेगी गति, हजारों हाथों को मिलेगा रोजगार
रेलवे और राज्य सरकार में बेहतर तालमेल होता है तो मजदूर मिलने पर धीमी गति से चल रहे रेलवे के प्रोजेक्ट को गति मिलेगी। इसके साथ ही अन्य राज्यों से लौटे हजारों कुशल और अकुशल मजदूरों को रोजगार मिलेगा।

Sunil Sisodia Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned