scriptRaj assembly not interested in discussion, became honorable tourist | rajasthan assembly...चर्चा में रूचि नहीं, माननीय बने टूरिस्ट | Patrika News

rajasthan assembly...चर्चा में रूचि नहीं, माननीय बने टूरिस्ट

विधानसभा बजट सत्र साप्ताहिक समीक्षा...

जयपुर। राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र प्रदेश के विकास, योजना निर्माण, आय-व्यय से लेकर विधायकों के अपने क्षेत्र के मुद्दे और समस्या उठाए जाने को लेकर हर मायने में अहम होता है। लेकिन राजस्थान विधानसभा के चल रहे बजट सत्र में माननीय बेहद कम उपस्थिति उनकी रूचि को बयां कर रही है। यह भी कहा जाए तो अतिश्योक्ति नहीं होगी कि कि तमाम माननीयों के लिए सदन टूरिस्ट स्थल बना हुआ है।

जयपुर

Published: March 14, 2022 11:53:27 pm

सभापति भी एक वरिष्ठ सदस्य और पूर्व मंत्री को लेकर टिप्पणी कर चुके हैं कि आप तो सदन में टूरिस्ट की तरह आते हो...। सप्ताहभर की ही कार्यवाही पर गौर किया जाए तो प्रश्नकाल के बाद ज्यादातर विधायक गायब ही रहे। उन्हें जब बोलना था, उसी वक्त पहुंचे और अपनी बात कह कर चलते बने। 200 सदस्यों वाले सदन में कई दफा दोपहर में सदस्यों की उपस्थिति 30 से 35 तक ही सिमट कर रह गई। इसमें भी विपक्ष के मुकाबले सत्तापक्ष के सदस्य कम नजर आए। जबकि सदन में सीधे जनता से जुड़े कई महत्वपूर्ण विभागों की अनुदान मांगों पर बहस हुई।

मंत्री मर्दों वाली टिप्पणी और धर्मातंरण
सदन में पक्ष-विपक्ष के आरोपों पर कई मौकों पर तीखी नौकझौंक और हंगामा भी हुआ। मार्शल बुलाए गए तो विधायकों से जमकर धक्कामुक्की भी हुई। संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल की बलात्कार के मामलों में प्रदेश के अवल्ल होने पर की गई मर्दों का प्रदेश वाली टिप्पणी पर विपक्ष ने वैल में आकर जोरदार हंगामा किया। दो बार सदन की कार्यवाही स्थगित हुई और मार्शल बुलाने पर विधायकों के साथ जबरदस्त धक्कामुक्की चली। आरएलपी सदस्यों को सदन से कुछ देर के लिए बाहर भी निकाला गया। बाद में संसदीय कार्यमंत्री धारीवाल के दो बार सदन में माफी मांगने के पर शांति कायम हुई। वहीं सदन में धर्मातंरण के लिए उकसावे के मामले में भी गर्मी रही। विपक्ष ने सदन से बहिर्गमन तक किया। विपक्ष ने आरोप लगाया थाकि अल्पसंख्यक मामलात मंत्री साले मोहम्मद की अन्य पिछड़ा वर्ग या शपथ पत्र के आधार पर अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र जारी करने की मंशा ठीक नहीं है। मंत्री धर्म बदलने को लेकर उकसा रहे हैं।

विश्वेन्द्र ने कह दिया वे छुट्टी पर
सदन में पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह भी चर्चा में रहे, जब उनके सवाल का जवाब देने के दौरान नेता प्रतिपक्ष ने पिछले साल की जानकारी मांगी तो उन्होंने कांग्रेस के सियासी संकट में स्वयं के मंत्री पद गंवाने याद दिलाते हुए चुटकी ली और कहा कि वे एक साल से छुट्टी पर थे।

तबादलों का धंधा - मंत्री रबर स्टांप
इस बजट सत्र में सदन की 16 बैठकें हो चुकी हैं। शिक्षा, चिकित्सा, आबकारी, पेयजल, पुलिस-जेल, अनुसूचित जारी विशिष्ट संगठक योजना को लेकर अनुदान मांगों पर चर्चा हो चुकी है। मास्टरों को तबादलों को लेकर अब तक तबादला नीति जारी नहीं होने पर विपक्ष ने यह कहते हुए घेरा कि क्या मंत्री के पास मास्टरों को इधर से उधर करने का ही धंधा रह गया है। वहीं जलदाय मंत्री को अपने विधायक के ही हमले का शिकार होना पड़ा। मंत्री को रबर स्टाम्प बताते हुए कह दिया कि अधिकारियों की मनमानी पर लगाम नहीं लगाई तो विपक्ष में बैठना पड़ेगा, जैसे वसुंधराजे को अच्छे कामों के बाद भी विपक्ष में बैठना पड़ा।

पुलिस तस्कर गठजोड़, उधर विधायक भूले कानून
सदन में विपक्ष ने सरकार को प्रदेश की बिगड़ती कानून को लेकर घेरने की कोशिष की वहीं, मुख्यमंत्री के सलाहकार ने शराब तस्करों से पुलिस के करीब 40 अधिकारियों व कास्टेबलों की जांच में पुष्टि होने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने का मामला उठाया। विधायक जोराराम कुमावत ने तो सदन में दुष्कर्म पीड़िता का ही नाम उजागर कर दिया, जो कानून नहीं किया जा सकता था। चिकित्सकों के गांवों के बजाय शहरों में टिके होने और डेपूटेशन खत्म करने के मामले में चिकित्सा मंत्री को तो यहां तक कहना पड़ा कि वे मंत्री पद पर रहे या नहीं, लेकिन डेपूटेशन बंद करके रहेंगे फिर चाहे कुछ भी करना पड़े। अनुसूचित जाति विशिष्ट संगठक योजना पर चर्चा पर सरकार ने आश्वस्त किया कि एससी के लोगों पर अप्रेल 2018 में दर्ज हुए मामले वापस लिए जाएंगे।
---
rajasthan assembly...चर्चा में रूचि नहीं,  माननीय बने टूरिस्ट
rajasthan assembly...चर्चा में रूचि नहीं, माननीय बने टूरिस्ट

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पंजाब CM भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोप में किया बर्खास्त, मामला दर्जकहां रहता है मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम? भांजे अलीशाह ने ED के सामने किया खुलासाहेमंत सोरेन माइनिंग लीज केस में PIL की मेंटेनेबिलिटी पर झारखण्ड हाईकोर्ट में 1 जून को सुनवाईकांग्रेस की Task Force-2024 और पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी का ऐलान, जानिए सोनिया गांधी ने किन को दिया मौकापाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टये है प्लेऑफ में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट, 8 में से 7 खिलाड़ी एक ही टीम केकुतुब मीनार केसः साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी, 9 जून को अदालत सुनाएगी फैसलाPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.