डिब्बों में घूस! दीपावली की मिठाई पर एसीबी की खास नजर

दीपावली पर घरों में लोग और बाजारों में दुकानदार तो खास तैयारियों करते ही हैं लेकिन इस बार भ्रष्टचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने भी खास तौर पर कमर कसी है।

By: kamlesh

Published: 13 Nov 2020, 02:32 PM IST

जयपुर। दीपावली पर घरों में लोग और बाजारों में दुकानदार तो खास तैयारियों करते ही हैं लेकिन इस बार भ्रष्टचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने भी खास तौर पर कमर कसी है।

ब्यूरो की नजर इस बात पर है कि दीपावली की मिठाई के बहाने डिब्बों में कहीं घूस तो ली—दी नहीं जा रही है। क्योंकि इस तरीके से रिश्वत के लेन—देन के कई मामले पूर्व में पकड़े जा चुके हैं।

पूर्व में सामने आए ऐसे मामले में एसीबी ने एक अधिकारी को पकड़ा था। जयपुर स्थित अपने घर लौट रहे इस अधिकारी की तलाशी में एसीबी को मिठाई के डिब्बों के साथ नकदी मिली थी। इसके मद्देनजर ब्यूरो ने न सिर्फ निगरानी बढ़ाई है कि बल्कि टोल फ्री नम्बर के जरिए मिलने वाली शिकायतों को भी गंभीरता से लिया जा रहा है।

घूस की 'मिठाई' की यह बानगी
- गत वर्ष एसीबी ने एक मामला पकड़ा, जिसमें रिश्वत मांगने वाले एक अधिकारी ने मिठाई के डिब्बे में 10 लाख रुपए मांगे थे।

- जयपुर में एसीबी ने एक मामला पकड़ा, जिसमें रिश्वत के तौर पर एक अधिकारी ने भूखंड का पट्टा लिया था।

भ्रष्टाचार के संबंध में यहां करें शिकायत
एसीबी के डीजी बीएल सोनी ने बताया कि घूसखोरी के मामलों में कार्रवाई लगातार की जा रही है। मिठाई के साथ घूस देने का मामला पकड़ में आने पर 'गिफ्ट' देने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। रिश्वतखोरी संबंधी सूचना टोल फ्री नंबर 1064 और वाट्सएप हैल्पलाइन नंबर 9413502834 पर दी जा सकती है।

एसीबी: सक्रियता का यह नतीजा
11 दिन में 16 कार्रवाई कर चुका है एसीबी

18 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया इन कार्रवाई के तहत

एसीसी ने खनन विभाग के एक अधिकारी को रिश्वत देने पहुंचे दलाल के साथ रंगे हाथ पकड़ा। इनसे दो तरह की मिठाइयों के साथ रिश्वत के 4 लाख रुपए की बरामद किए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned