scriptrajasthan air pollution latest update | राजस्थान में जहरीली हवा को लेकर आई यह बड़ी खबर | Patrika News

राजस्थान में जहरीली हवा को लेकर आई यह बड़ी खबर

राजस्थान में वायु प्रदूषण का असर अब तक बना हुआ है। दिवाली निकलने के बाद भी जयपुर, कोटा और जोधपुर की हवा खराब बनी हुई है।

जयपुर

Published: November 08, 2021 02:00:48 pm

जयपुर। राजस्थान में वायु प्रदूषण का असर अब तक बना हुआ है। दिवाली निकलने के बाद भी जयपुर, कोटा और जोधपुर की हवा खराब बनी हुई है। जबकि भिवाड़ी की हवा अति खराब स्थिति में हैं। माना जा रहा है कि सर्दी और कोहरे का असर बढ़ने के साथ ही जहरीली हवा स्वास्थ्य पर गहरा असर डाल सकती है। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट साफ तौर पर चेतावनी दे रही है। हालात नहीं सुधरे तो गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं। उधर, हवा खराब होने से फेफड़ों, अस्थमा और हृदय रोग वाले लोग जिन्हें सांस लेने में तकलीफ होती है वे सब बचकर रहें।
air.jpg
बदलते मौसम के बीच दिवाली के साथ ही तापमान में गिरावट, पटाखे और आतिशबाजी से निकलने वाले धुएं से राजस्थान का वायु गुणवत्ता सूचकांक में उतार-चढ़ाव जारी है। बीते पांच दिन की बात करें तो राजस्थान के 8 शहरों की हवा लगातार बदल रही है। भिवाड़ी अब तक अति खराब स्थिति में है, जबकि कोटा, जयपुर और जोधपुर की हवा खराब बनी हुई है। अजमेर, उदयपुर, अलवर और पाली की हवा में सुधार हो रहा है। जयपुर की बात की जाए तो अभी यहां की हवा खराब चल रही है। सवेरे-सवेरे खुले इलाकों में कोहरा छाया नजर आ रहा है।
दरअसल, यह प्रदूषण है जो लोगों को कोहरे के रूप में दिखाई दे रहा है। चिकित्सकों को कहना है कि यह हवा सवेरे घूमने वालों पर भी असर डाल सकती है। साथ ही फेफड़ों, अस्थमा और हृदय रोग वाले लोग जिन्हें सांस लेने में तकलीफ होती है उन्हें इस हवा से बचकर रहने की सलाह दी जा रही है। पर्यावरणविदों के मुताबिक पटाखों से वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ने का मुख्य कारण मौसम में बदलाव भी है। तापमान गिरने और हवा नहीं चलने से धुंआ आसमान में ज्यादा ऊपर नहीं जा सका।
बढ़ सकती है अस्थमा के मरीजों की परेशानी
जानकारों की माने तो पिछले साल राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक का लेवल महज 170 एक्यूआई के आसपास था, जबकि इस बार 40 फीसदी से अधिक प्रदूषण का स्तर बढ़ा हुआ नजर आया। यह भी साफ हो रहा है कि वायु प्रदूषण की यह स्थिति अगले कुछ दिन तक यूं ही रह सकती है। वायु गुणवत्ता सूचकांक 250 के पार पहुंचने के बाद अस्थमा के मरीजों के लिए परेशानी बढ़ जाती है। पुराना अस्थमा के मरीजों को धुंआ होने के कारण आंख और नाक में हल्की जलन होना, जी घबराना, सिरदर्द जैसी शिकायतें भी कई लोगों में आती है।
रात के तापमान में होगी गिरावट
मौसम विभाग की माने तो रात के तापमान में और गिरावट दर्ज होगी। अगामी दिनों में तापमान 2 से 3 डिग्री तक गिरेगा और जहां हवा खराब है, वहां सवेरे-सवेरे कोहरा छाया रहेगा। ऐसे में बीमारों को बचकर रहने की सलाह भी दी जा रही है। न्यूनतम तापमान की बात करें तो सोमवार सवेरे 8.30 बजे तक भीलवाडा़ 10.6, सीकर 10.0, बीकानेर 10.9, चूरू 10.9, चितौड़गढ़ 12.0 और डबोक का तापमान 12.2 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि जैसलमेर 18.5, टोंक 17.4, बाड़मेर 18.3, फलौदी में रात का तापमान 17 डिग्री दर्ज किया गया।
बाड़मेर 34 डिग्री के पार
दिन के तापमान की बात करे तो बाड़मेर में दिन का तापमान 34.6 डिग्री दर्ज किया गया है। जबकि जोधपुर 34, जैसलमेर 33.6, टोंक 33.9 डिग्री पर रहा। अधिकतर जिलों का तापमान 30 डिग्री से ऊपर चल रहा है। पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में अगले सात दिन के भीतर मौसम मुख्यतः शुष्क रहने की संभावना जताई जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.