उप चुनाव: तीन सीटों पर 60.71 फीसदी मतदान, सर्वाधिक 67.18% मतदान राजसमंद में हुआ

प्रदेश की सहाड़ा, राजसमंद और सुजानगढ़ विधानसभाओं में शनिवार को कोरोना के साये में उपचुनाव के लिए मतदान हुआ।

By: santosh

Updated: 18 Apr 2021, 01:59 PM IST

जयपुर। प्रदेश की सहाड़ा, राजसमंद और सुजानगढ़ विधानसभाओं में शनिवार को कोरोना के साये में उपचुनाव के लिए मतदान हुआ। कोरोना से बचाव की तमाम कोशिशों के साथ ही कोरोना संक्रमित मतदाताओं के लिए वोट डालने की व्यवस्था करने के बावजूद 2018 के चुनाव के मुकाबले में तीनों सीटों पर मतदान प्रतिशत कम रहा।

जानकारी के मुताबिक 60.71 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। तीनों विधानसभाओं क्षेत्रों में 1145 मतदान केंद्रों पर मतदान हुआ। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि प्रारंभिक जानकारी के अनुसार सर्वाधिक 67.18 फीसदी मतदान राजसमंद विधानसभा में हुआ। भीलवाड़ा की सहाड़ा विधानसभा में 56.56 मतदाताओं ने वोट डाले तो चूरू जिले की सुजानगढ़ विधानसभा में कुल 59.20 प्रतिशत मतदान हुआ।

पिछले चुनाव में हुआ इतना मतदान
गौरतलब है कि 2018 के विधानसभा आम चुनाव में सहाड़ा में 73.56, सुजानगढ़ में 70.68 और राजसमंद में 76.59 फीसदी मतदान दर्ज हुआ था। दिव्यांगजन और बुजुर्गों मतदाताओं के लिए इस बार बैलेट पेपर से वोट का विकल्प उपलब्ध करवाया गया। मतदान के आखिरी समय में कोरोना संक्रमित मरीजों ने पीपीई किट पहनकर अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।


यह रही मतदान की रफ्तार

कोरोना को देखते सभी मतदान के समय में 2 घंटों की बढ़ोतरी की थी। मतदान केंद्र पर बिना मास्क के प्रवेश नहीं दिया गया। सुबह 9 बजे तक मतदान प्रतिशत 10.56, अपराह्न 11 बजे 23.18, दोपहर 1 बजे तक 36.06 प्रतिशत और दोपहर 3 बजे तक 44.89 और 4 बजे तक 48.83 फीसदी रहा। शाम 5 बजे तक 54.07 फीसदी मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार मतदान समाप्ति तक 60.71 फीसदी मतदान दर्ज हुआ।

बूथ एप से मिली जानकारी
उप चुनाव में मतदान के वास्तविक वोटर टर्नआउट का पता लगाने के लिए पहली बार 'बूथ एप' का इस्तेमाल किया गया। इसके चलते मतदाताओं को मतदान का प्रतिशत जानने के लिए इंतजार नहीं करना पड़ा और एक क्लिक पर सभी जरूरी जानकारी मिल गई। साथ ही, फर्जी मतदान को रोकने में भी यह एप कारगर साबित हुआ।

रतनलाल जाट नहीं कर सके मतदान
कोरोना संक्रमण के कारण जयपुर में अस्पताल में भर्ती भाजपा प्रत्याशी रतनलाल जाट शनिवार को यहां मतदान नहीं कर सके। कांग्रेस प्रत्याशी गायत्री देवी त्रिवेदी ने सुबह 7.30 बजे रायपुर स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में मतदान किया। मतदान से पूर्व गायत्री देवी ने मंदिर जाकर पूजा अर्चना की। इसके बाद वह स्वयं मतदान केन्द्र पहुंची। रालोपा प्रत्याशी बद्रीलाल जाट ने गंगापुर के तिरोरी स्थित मतदान केन्द्र पर सुबह दस बजे पिता, पत्नी व पुत्री के साथ मताधिकार किया। जिला निर्वाचन अधिकारी शिव प्रसाद नकाते व केन्द्रीय पर्यवेक्षक अमित घोष ने मतदान के दौरान संवेदनशील, अतिसंवेदनशील एवं आदर्श मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया। जिला कलेक्टर ने मतदान करने आए कई मतदाताओं को पौधे भी भेंट किए।

डोटासरा ने जताया आभार
शांतिपूर्वक मतदान के लिए पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्वीट कर मतदाताओं का आभार जताया। मतदानकर्मियों को भी धन्यवाद दिया। डोटासरा ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते विषम परिस्थितियों के बावजूद मतदाताओं ने उत्साह से मतदान में भाग लिया। यह भारत के लोकतंत्र की मजबूती का परिचायक है। वहीं, राज्य में वीकेंड कफ्र्यू के चलते कांग्रेस मुख्यालय आमजन के लिए बंद रहा। हालांकि कंट्रोल रूम में नियुक्त पदाधिकारी क्षेत्र में लगातार संपर्क में रहे।

सरकारी मशीनरी का हुआ दुरुपयोग : पूनियां
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि हम कांग्रेस नहीं सरकारी मशीनरी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। राजसमंद में कांग्रेस के लोगों को पैसे बांटते हुए रंगे हाथों भाजपा कार्यकर्ताओं ने पकड़ा। मगर सरकारी मशीनरी, पुलिस-प्रशासन का दुरुपयोग हुआ और आधी रात को भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया। कांग्रेस की हताशा और चुनाव हारने की बौखलाहट साफ तौर पर दिख रही है। मैं भाजपा कार्यकर्ताओं का अभिनंदन करता हूं कि उन्होंने अपने परिश्रम से सरकारी मशीनरी और गहलोत सरकार से डटकर मुकाबला किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned