Rajasthan Assembly : जयपुर में बनेगा थ्री टेक पार्क

रीको के औद्योगिक भूखंड अब 20 से 25 प्रतिशत मिलेंगे सस्ते

By: surendra kumar samariya

Published: 07 Mar 2020, 09:44 PM IST

प्रदेश में खाली पड़ी सरकारी जमीनों को चिंहित कर अब रीको औद्योगिक क्षेत्र ( riico area ) विकसित किए जाएंगे। रीको के जरिए ऐसी जगहों पर नए उद्योग इकाईयां स्थापित हो सकेगी। जमीन चिंहित करने के लिए सभी जिला कलेक्टर्स को उद्योग विभाग ने पत्र लिखा है। शनिवार को विधानसभा में अनुदान मांगों के जवाब देते हुए उद्योग मंत्री परसादी लाल ( Minister Parsadi Lal Meena ) ने यह बात कही।

मंत्री ने कहा कि अब रीको के औद्योगिक भूखंड 20 से 25 प्रतिशत सस्ते मिलेंगे। जमीन-बिजली सस्ती मिलेगी तो उद्योग स्थापित होंगे। वहीं, रीको से 1 करोड़ की जमीन खरीदने वालों को 75 प्रतिशत लोन मिलेगा। रिफाइनरी क्षेत्र पचपरदा में उद्योग स्थापना में रीको ने औद्योगिक जोन के लिए 422.34 हैक्टर भूमि चिंंिहत की है।

जोधपुर में हैंडीक्रॉफ्ट निदेशालय बनेगा
अब जोधपुर ( Jodhpur ) में हैंडीक्रॉफ्ट निदेशालय का गठन होगा। उद्योगों नीतियों को बेहतर बनाने के लिए नॉलेज पार्टनर की नियुक्ति करेंगे। केंद्र ने सांभर सॉल्ट उपक्रम बिना शर्त राज्य को देने को कहा है। सेरेमिक उद्योग के लिए केंद्र सरकार से सहयोग मांगा है। बैंग्लूरू एवं हैदराबाद की तरह अब जयपुर में बी टू बाईपास पर 40 हैक्टेयर में थ्री टेक पार्क बनेगा। इसमें हाई प्रोफेशनल लोग, आईटी एक्सपर्ट, फाइनेंस संबंधित व्यक्तियों को रोजगार मिलेगा।

बहस के बाद उद्योग की 3 अरब 64 करोड़ 43 लाख 17 हजार रुपए की अनुदान मांगें पारित की गई। पचास प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार देने वाले नियोजन पर ईपीएफ की राशि नियोजन के अनुपात में 75 फीसदी विभाग वहन करेगा।

राज्य पूंजी विनियोजन अनुदान योजना 1990 में लाभांवित ईकाईयों की गंभीर वित्तीय संकट व 5 साल तक कार्य नहीं करने वाली ईकाईयों को अनुदान वसूली में राहत दी है। बड़े उद्योगों को बिजली एक रुपया प्रति यूनिट और उद्यामियों की मांग पर रात में बिजली उपभोग पर 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

surendra kumar samariya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned