अब प्राधिकरण व नगर निकाय कर सकेंगे आवंटन व लीज डीड निरस्त

अवैध तरीके से भूमि का आवंटन कराने या नीलामी में भूमि खरीदकर उसकी लीज डीड पंजीकृत कराने पर उसे प्राधिकरण और नगर निकाय निरस्त कर सकेंगे। इसके साथ ही सरकार ने विधानसभा (Rajasthan Assembly) में राजस्थान नगरपालिका संशोधन विधेयक 2021 (Rajasthan Municipal Amendment Bill 2021) पारित कर नगरीय निकायों में मनोनीत पार्षदों (Nominated Councilors) की सख्यां बढा दी है। अब नगर निगम में 12 पार्षद मनोनीत होंगे, वहीं नगर परिषद में 8 और नगर पालिका में 6 सदस्य मनोनीत होंगे।

By: Girraj Sharma

Published: 19 Mar 2021, 10:42 PM IST

अब प्राधिकरण व नगर निकाय कर सकेंगे आवंटन व लीज डीड निरस्त
— नगर निकायों में मनोनीत पार्षदों की संख्या बढाई

जयपुर। अवैध तरीके से भूमि का आवंटन कराने या नीलामी में भूमि खरीदकर उसकी लीज डीड पंजीकृत कराने पर उसे प्राधिकरण और नगर निकाय निरस्त कर सकेंगे। इसके साथ ही सरकार ने विधानसभा (Rajasthan Assembly) में राजस्थान नगरपालिका संशोधन विधेयक 2021 (Rajasthan Municipal Amendment Bill 2021) पारित कर नगरीय निकायों में मनोनीत पार्षदों (Nominated Councilors) की सख्यां बढा दी है। अब नगर निगम में 12 पार्षद मनोनीत होंगे, वहीं नगर परिषद में 8 और नगर पालिका में 6 सदस्य मनोनीत होंगे। साथ ही मनोनीत किए जाने वाले पार्षदों में एक पार्षद विशेष योग्यजन होगा।

राजस्थान नगरपालिका संशोधन विधेयक 2021 पारित करने के साथ ही इसके साथ जयपुर, अजमेर व जोधपुर विकास प्राधिकरणों के अधिनियमों में संशोधन कर सुनवाई का अवसर देने के बाद आवंटन एवं लीज डीड को निरस्त करने का अधिकार नगर निकायों और प्राधिकरणों को दिए गए है। इससे पहले ऐसी स्थिति में आवंटन व लीज डीड निरस्त करने का अधिकार सिविल कोर्ट को है।

मनोनीत पार्षदों की संख्या बढाई
राजस्थान नगरपालिका संशोधन विधेयक 2021 पारित कर नगर निगमों, नगर परिषदों व नगर पालिकाओं में मनोनीत पार्षदों की संख्या बढाई गई है। नगर निगम में 6 की जगह अब 12 मनोनीत पार्षदों हो सकेंगे, वहीं नगर परिषद में 5 की जगह 8 और नगर पालिका में 4 की जगह अब 6 मनोनीत पार्षद हो सकेंगे।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned