सदन में गूंजा गैंगरेप मामला, हाड़ौती के विधायकों ने वेल में किया हंगामा

झालावाड़ में एक नाबालिग के साथ हुए गैंगरेप के मामले पर शुक्रवार को सदन में जोरदार हंगामा हुआ। हाड़ौती के भाजपा विधायकों ने वेल में आकर हंगामा किया। हालांकि बाद में सभापति और उपनेता प्रतिपक्ष के कहने पर सभी अपनी सीटों पर चले गए।

By: Umesh Sharma

Published: 19 Mar 2021, 01:30 PM IST

जयपुर।

झालावाड़ में एक नाबालिग के साथ हुए गैंगरेप के मामले पर शुक्रवार को सदन में जोरदार हंगामा हुआ। हाड़ौती के भाजपा विधायकों ने वेल में आकर हंगामा किया। हालांकि बाद में सभापति और उपनेता प्रतिपक्ष के कहने पर सभी अपनी सीटों पर चले गए।

शून्यकाल में स्थगन के जरिए दिलावर ने मामला उठाते हुए कहा कि हिन्दुस्तान का सबसे बड़ा गैंगरेप झालावाड़ में एक नाबालिग के साथ हुआ है। एक दलित युवती के साथ 40 लोगों ने गैंगरेप किया और अभी तक सभी दरिंदों को पकड़ा नहीं गया है। इस मामले में 28 लोग ही पकड़े गए हैं। जिन घरों में बलात्कार हुआ, उन परिवारों को नहीं पकड़ा गया है। नौ दिन तक बलात्कार होना सामान्य घटना नहीं है। ये महिला अपनी मां के साथ थाने में गई तो मामला दर्ज नहीं किया, बल्कि डराया—धमकाया गया। मगर डीएसपी को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने मामला दर्ज करवाया। दिलावर ने कहा कि रामगंजमंडी क्षेत्र में सैंकड़ों महिलाएं बलात्कार पीड़ित हैं और सैंकड़ों महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की घटना हो चुकी है। अगर छानबीन कराएंगे तो सामने आ जाएगा कि इनके मामले में दर्ज नहीं हुए।

जाति विशेष का नाम पर लेने पर भड़के स्पीकर

इस मामले पर दिलावर ने एक जाति विशेष का नाम लिया। इस पर स्पीकर सीपी जोशी ने जताई नाराजगी। जोशी ने कहा कि मैंने कटारियाजी आपके कहने पर दिलावर को बोलने के लिए अलाउ किया। मगर ये गलत है। मैं सदन को टोलरेट नहीं होने दूंगा, आप बैठ जाइए। आपकी भावना समझ में आ गई है। पीड़िता को संरक्षण दिलवाने की बात सरकार तक पहुंच गई है।

हाड़ौती विधायकों ने कर दिया हंगामा

दिलावर के मामला रखने के बाद भाजपा विधायक सूर्यकांता व्यास बोलने लगी तो विधायक संदीप शर्मा ने हाथों में पर्चे लेकर कहा कि एक नाबालिग बच्ची के साथ देह शोषण किया गया। उसे कैद रखा गया। शर्मा के साथ प्रताप सिंह सिंघवी और चंद्रकांता मेघवाल ने भी आवाज उठाई। सभी विधायक वेल में आ गए और हंगामा करने लगे। इस पर सभापति ने कहा कि आप सभी सीनियर हैं और ध्यानाकर्षण हो चुका है, इसलिए सभी अपनी सीटों पर जाकर बैठें। सभापति और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के कहने पर सभी अपनी सीटों पर चले गए।

डोटासरा बोले राठौड़ को नेता ही नहीं मानते विधायक

विधायकों के हंगाम करने पर शिक्षामंत्री गोविंद डोटासरा ने कहा कि राजेंद्र राठौड़ को विधायक नेता ही नहीं मान रहे हैं। उनके कहने पर भी सीटों पर नहीं जा रहे हैं। इस पर सभापति जितेंद्र सिंह ने कह कि राठौड़ का सभी कहना मानते हैं मंत्रीजी, इसलिए सभी अपनी सीटों पर चले गए हैं

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned