किसी विधायक-मंत्री के फोन टैप नहीं हुए, भाजपा के पास नहीं कोई मुद्दा इसलिए दे रहे हैं तूल-खाचरियावास

प्रदेश में फोन टैपिंग मामले को लेकर एक नया मोड़ आ गया है। गृह विभाग ने स्वीकार किया है कि फोन टैपिंग हुई है। मगर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने साफ कहा है कि किसी मंत्री विधायक की फोन टैपिंग नहीं हुई। भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए मामले को बेवजह तूल दिया जा रहा है।

By: Umesh Sharma

Published: 16 Mar 2021, 01:38 PM IST

जयपुर।

प्रदेश में फोन टैपिंग मामले को लेकर एक नया मोड़ आ गया है। गृह विभाग ने स्वीकार किया है कि फोन टैपिंग हुई है। इसे लेकर भाजपा हमलावर हुई है और मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का इस्तीफा मांगते हुए मामले की सीबीआई से जांच की मांग की है। मगर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने साफ कहा है कि किसी मंत्री विधायक की फोन टैपिंग नहीं हुई। भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए मामले को बेवजह तूल दिया जा रहा है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां द्वारा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस्तीफा मांगने पर गखाचरियावास ने कहा कि पूनियां पूरी तरह फेल हैं। उनकी पार्टी गुटों में बंटी है। इस्तीफा तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को देना चाहिए, जिन्होंने कांग्रेस शासित प्रदेशों में सरकार तोड़ने की कोशिश की लेकिन राजस्थान में दाल गलने वाली नहीं है। खाचरियावास ने उपनेत प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ द्वारा लगाए गए आरोपों पर कहा कि भाजपा के पास सदन के अंदर और बाहर कोई मुद्दा नहीं है क्योंकि जो बात उठाई जा रही है वह 8-9 महीने पुरानी उठाई जा रही है नहीं बात बीजेपी के पास कुछ है नहीं।

विपक्ष को मिल चुका है सवाल का जवाब- चौधरी

सरकारी मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी ने कहा कि लोकतंत्र में सबको सवाल लगाने का अधिकार है। विपक्ष के रूप में भाजपा ने भी लगाया लेकिन उसका जवाब उन्हें मिल चुका है क्योंकि सरकार हर सवाल का जवाब देती है।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned