सड़क अपग्रेड करने में राजस्थान देश में नंबर दो

उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तीसरे चरण के तहत 1 हजार 139 करोड़ रुपए की लागत से प्रदेश में लगभग 2 हजार 200 किलोमीटर सड़कों का उन्नयन किया जाएगा। इसके लिए केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने गुरुवार को राज्य के 237 प्रस्तावों की स्वीकृति जारी कर दी है। योजना के तीसरे चरण में सड़कों के उन्नयन के लिए स्वीकृति प्राप्त करने में राजस्थान देश में दूसरे स्थान पर पहुंच चुका है।

392 प्रस्ताव और तैयार कर रहा विभाग
पायलट ने बताया कि प्रदेश में ग्रामीण सड़कों के विकास एवं उन्नयन के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग तीसरे चरण के दूसरे बैच के लिए लगभग 3,740 किलोमीटर लंबाई की सड़कों के 392 प्रस्ताव और तैयार कर रहा है। पीएमजीएसवाई के तीसरे चरण के तहत राजस्थान को आगामी पांच वर्ष में सड़क उन्नयन के लिए 8,663 किलोमीटर आवंटित किए गए हैं।
बुनियादे ढांचे का विकास प्राथमिकता
पायलट ने बताया कि पीएमजीएसवाई के तीसरे चरण के तहत प्रदेश में ग्रामीण आबादी, कृषि बाजार, परिवहन, बुनियादी ढांचे, स्कूलों एवं चिकित्सा-स्वास्थ्य सुविधाओं से कनेक्टिविटी आदि के आधार पर सड़कों का उन्नयन के लिए चयन किया गया है।
उन्नयन में होंगे यह कार्य
उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि तीसरे चरण में प्रस्तावित सड़कों के उन्नयन के लिए सड़कों के चौड़ाईकरण, सिंगल लेन से इंटरमीडिएट लेन की चौड़ाई को मजबूत करने, गुणवत्ता में सुधार तथा सड़कों पर पुल निर्माण जैसे कार्य किए जाएंगे।

chandra shekar pareek Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned