scriptRajasthan Biggest tunnel ghat-ki-guni and jammu kashmir tuneel PM Modi | जयपुर के घाट की गुणी सुरंग है राजस्थान की सबसे लंबी सुरंग | Patrika News

जयपुर के घाट की गुणी सुरंग है राजस्थान की सबसे लंबी सुरंग

जम्मू-कश्मीर में जब एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू से कश्मीर को हर मौसम में जोड़ने वाली काजीगुंड और बनिहाल के बीच बनी सुरंग का उदघाटन कर रहे हैं तो देश में बनी तमाम सड़क सुरंगों का जिक्र छिड़ गया है। ऐसे में राजस्थान की राजधानी और गुलाबी नगरी के नाम से मशहूर जयपुर का जिक्र होना लाजमी है। झलाना की पहाड़ियों में बनी घाट की गुणी सुरंग प्रदेश की सबसे लंबी सुरंग है।

जयपुर

Published: April 23, 2022 11:33:30 pm

जम्मू-कश्मीर में जब एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू से कश्मीर को हर मौसम में जोड़ने वाली काजीगुंड और बनिहाल के बीच बनी सुरंग का उदघाटन कर रहे हैं तो देश में बनी तमाम सड़क सुरंगों का जिक्र छिड़ गया है। ऐसे में राजस्थान की राजधानी और गुलाबी नगरी के नाम से मशहूर जयपुर का जिक्र होना लाजमी है। झलाना की पहाड़ियों में बनी घाट की गुणी सुरंग प्रदेश की सबसे लंबी सुरंग है। सुरंग निर्माण के बाद आमजनको काफी राहत मिली है और आगरा से सीधा जुड़ाव हो गया है। इससे दिल्ली, जयपुर और आगरा के स्वर्णिम त्रिकोण पर्यटन को भी काफी फायदा हुआ है।
12705233_1094376970620568_3417670885565942308_n-3.jpg
Rajasthan Longest tunnel Ghat Ki Guni
मनमोहन सिंह-सोनिया गांधी ने किया था लोकार्पण
घाट की गूणी सुरंग परियोजना का लोकार्पण तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह एवं उस समय यूपीए अध्यक्ष रहीं सोनिया गांधी ने किया था। जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा 150 करोड़ रुपये की लागत से इस योजना का बीओटी आधार पर निर्माण करवाया गया था। लोकार्पण के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सुरंग का अवलोकन भी किया था। इस सुरंग का टोल टैक्स भी जल्द ही समाप्त होने जा रहा है।
इसलिए है ख़ास सुरंग
अरावली पर्वत की सुरम्य वादियों में स्थित इस परियोजना की कुल लम्बाई 2800 मीटर है जिसके तहत 870 मीटर लम्बाई की दो सुरंगे जहां शहर के बढ़ते यातायात दबाव को कम करने के लिए बनाई गईं वहीं इसने गुलाबी नगर के पर्यटन की भी शोभा बढ़ाई। दोनों सुरंग 330 मीटर की दूरी पर आपस में जुड़ी हुई है। इस सुरंग परियोजना के शुरू होने से जयपुर से आगरा के लिए वैकल्पिक एवं सुरक्षित आवागमन सुविधा मिली है।
राजस्थान की पहली हाइटेक सुरंग
सुरंग में अनेक सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं जिनमें वेंटीलेशन के लिए पंखे, टेलीफोन बूथ, अत्याधुनिक अग्निशमन यंत्र, पैदल यात्रियों के लिए फुटपाथ के साथ ही रोशनी की समुचित व्यवस्था की गई है। सुरंग में वायु प्रदूषण के नियंत्रण के लिए सेंसर व्यवस्था भी उपलब्ध है। ब्रेक डाउन अथवा दुर्घटना से निपटने के लिए सुरंगों में दो इन्टरकनेक्टिंग मार्ग बनाये गये हैं।
newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी राजस्थान पत्रिका में राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाShivling In Gyanvapi: असदुद्दीन ओवैसी का अजीबोगरीब दावा, ज्ञानवापी में शिवलिंग नहीं, फव्वारा मिलाशिवलिंग मिलने के बाद वायरल हुआ ज्ञानवापी का वीडियों, आप खुद ही देखें क्या है सच्चाईनारी शक्ति : दूल्हे और उसके दोस्तों का हुड़दंग देखकर दुल्हन ने लौटाई बारात, दूसरे के संग लिए फेरे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.