भाजपा में विरोध का बवंडर

कहीं पुतले फूकें जा रहे तो कहीं पदाधिकारी दे रहे इस्तीफा

By: Mohan Murari

Published: 15 Nov 2018, 08:47 AM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता में टिकट की लिस्ट सामने आते ही पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं का गुस्सा सड़क पर दिख रहा है। पिछले तीन दिन से लगातार यह विरोध प्रदेश कार्यालय सहित अन्य शहरों में भी जारी है।
श्रीगंगानगर में भाजपा का टिकट नए चेहरे विनीता आहुजा को दिए जाने पर भाजपा जिला उपाध्यक्ष और टिकट के दावेदार प्रहलाद टांक के समर्थकों ने बुधवार रात को निजी कार्यालय के बाहर भाजपा के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पार्टी का झंडा जला दिया। जमकर पार्टी के खिलाफत नारे लगाए गए। कार्यकर्ताओं का गुस्सा यही नहीं थमा। उन्होंने टाक के होमलैड सिटी कॉलेानी स्थित घर और उनके गौशाला मार्ग पर स्थित निजी कार्यालय पर लगे पार्टी का झंडा उतरवा दिया। इन लोगों का कहना था कि जिस शख्स ने पिछले 15 सालों से पार्टी के हित में काम किया, उसे टिकट की अनदेखी करना कार्यकर्ताओं का अपमान है। वहीं कुम्हार समाज के काफी लोग भी टांक को टिकट काटने पर अपनी नाराजगी प्रकट करते दिखाई दिए। बार संघ के पूर्व अध्यक्ष मोहनलाल माहर का कहना था कि पार्टी का व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार करने के लिए टांक ने कोई कमी नहीं रखी, लेकिन जब टिकट की बारी आई तो सिर्फ अरोड़ा बिरदारी को खुश करने के लिए टिकट काट दी। इलाके में सिर्फ अरोड़ा बिरदारी ही नहीं अन्य छत्तीस कौम भी मतदाता हैं।
मेड़ता विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की ओर अपना प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद शुरू हुई बगावत दूसरे दिन भी जारी रही। यहां सेन भवन में हुई बैठक के दौरान भाजपा के दो जिला पदाधिकारी व एक शहर मंडल प्रवक्ता ने अपना इस्तीफा भेज दिया है। वहीं बैठक में यह निर्णय लिया गया कि हमारा प्रत्याशी घोषित होने के बाद आगामी बैठक में सामूहिक रूप से बैठक में मौजूद रहे बाकी बचे कार्यकर्ता भी इस्तीफा सौंप देंगे। भाजपा की बैठक के दौरान चुनाव लड़ने की इच्छुक भाजपा महिला मोर्चा की जिला मंत्री स्टेफी चौहान ने कहा, भाजपा के कार्यकर्ताओं के मान और सम्मान का ध्यान नहीं रखा गया है। पैनल में जिन तीन व्यक्तियों का नाम था, उन्हें टिकट नहीं देकर किसी अन्य को टिकट दिया गया है। ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया गया है, जो अपने क्षेत्र में सक्रिय नहीं है। टिकट के लिए रायशुमारी हुई थी और भी कई तरह के सर्वे किए गए थे, मगर उनके आधार पर टिकट फाइनल नहीं हुआ। इससे भाजपा कार्यकर्ता नाराज हैं। ऐसे में मजबूरन हमें इस्तीफा भेजना पड़ रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned