भाजपा में खेमेबाजी बढ़ी, सतीश पूनिया को फ्री हैण्ड

राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस पर गुटबाजी का आरोप लगाने वाली भाजपा में अब यह बीमारी थमने का नाम नहीं ले रही है।

By: kamlesh

Updated: 10 Jan 2021, 02:38 PM IST

विवेक श्रीवास्तव
नई दिल्ली। राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस पर गुटबाजी का आरोप लगाने वाली भाजपा में अब यह बीमारी थमने का नाम नहीं ले रही है। राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के समर्थकों ने अपना अलग संगठन खड़ा करना शुरू कर दिया है, प्रदेश के नेताओं ने इसकी जानकारी राष्ट्रीय नेतृत्व को दे दी है।

सूत्रों के मुताबिक, प्रदेश के नेताओं ने शुक्रवार की बैठक में राष्ट्रीय नेतृत्व के समक्ष कई दिग्गज नेताओं की ओर से पार्टी को नुकसान पहुंचाने के प्रमाण दिए गए है। वहीं दूसरी ओर कई नेताओं ने भी प्रदेश नेतृत्व के खिलाफ लिखित शिकायत नेतृत्व को दी है।

भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने लम्बी मंत्रणा के बाद प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को 3 उपचुनावों और निकाय चुनाव के लिए फ्री हैण्ड दिया है, लेकिन सभी नेताओं से समन्वय स्थापित करने के लिए भी निर्देशित किया है। सूत्रों के मुताबिक, पिछले वर्ष सियासी संकट के दौरान विधानसभा में अनुपस्थित रहने वाले विधायकों की रिपोर्ट भी राष्ट्रीय नेतृत्व को दी गई है, इसमें प्रदेश के कुछ दिग्गज नेताओं पर पार्टी के खिलाफ कार्य करने के आरोप भी लगाए गए है।

दरअसल, विधानसभा में बहुमत परीक्षण के दौरान भाजपा के 4 विधायक सदन में नहीं थे।वहीं पार्टी संगठन महामंत्री चंद्रशेखर ने शनिवार सुबह दिल्ली में राज्यसभा सांसद ओमप्रकाश माथुर से उनके आवास जाकर मुलाकात की।

सूत्रों के मुताबिक, माथुर के सफदरजंग लेन स्थित आवास पर चन्द्रशेखर को माथुर ने कुछ विषयों पर नाराजगी जताते हुए अहम सुझाव दिए। माथुर ने निकाय और पंचायतीराज चुनावों में कई नेताओं की उपेक्षा के लिए भी चंद्रशेखर को खरी खोटी सुनाई है। पार्टी नेतृत्व ने पूनिया, संगठन मंत्री चंद्रशेखर और राजेंद्र राठौड़ को सभी नेताओं के साथ समन्वय स्थापित कर आगे बढऩे के निर्देश दिए है। साथ ही पार्टी फ्रंटल ऑर्गेनाइजेशन को भी सक्रिय करने के निर्देश दिए है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned