राजस्थान: BJP में आज पूरी होगी निकाय चुनाव के ‘रण बांकुरे’ को चुनने की कवायद, ‘डैमेज कंट्रोल’ पर भी फोकस

20 जिलों की 90 निकायों में चुनाव का रण, भाजपा आज पूरी कर लेगी प्रत्याशी चयन की कवायद, प्रदेश मुख्यालय में आज भी जारी ‘मंथन’ का दौर, पार्टी को बगावत का डर- फूंक-फूंककर रख रही कदम, इस बार भी जयपुर से नहीं होगी प्रत्याशियों की घोषणा

 

By: nakul

Published: 14 Jan 2021, 11:24 AM IST

जयपुर।

प्रदेश भाजपा में निकाय चुनाव के लिए प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है। प्रदेश नेतृत्व से हरी झंडी मिलने के बाद प्रत्याशियों की सूची सम्बंधित निकायों के प्रभारियों को सौंपी जा रही है। प्रभारियों पर ही अपने-अपने निकायों में जाकर प्रत्याशियों को सूचित करने से लेकर पार्टी के अधिकृत सिम्बल वितरित करने और नामांकन भरवाने की ज़िम्मेदारी रहेगी। पार्टी का मानना है कि इस ‘फ़ॉर्मूले’ से प्रत्याशी चयन के बाद संभावित बगावत को कम किया जा सकेगा।

 

गौरतलब है कि 20 जिलों की 90 निकायों में चुनाव के लिए कल दोपहर तीन बजे तक नामांकन भरे जा सकेंगे। ऐसे में हर बार की तरह इस बार भी नामांकन के आखिरी दिन चयनित प्रत्याशियों के नामांकन भरने का सिलसिला परवान पर रहना तय है।

 

आज भी जारी रहेगा मंथन
जयपुर स्थित प्रदेश भाजपा मुख्यालय में आज भी निकाय चुनाव प्रत्याशी चयन को लेकर बैठकों का दौर जारी है। आज तीन जिलों प्रतापगढ़, बूंदी और हनुमानगढ़ के निकायों से आये तीन-तीन नामों के पैनल पर चर्चा हो रही है। चुनाव संचालन समिति से जुड़े वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में एक-एक नामों पर मुहर लगाई जायेगी। इससे पहले बुधवार को दिनभर चल ‘माथापच्ची’ के बाद 17 जिलों के निकायों पर प्रत्याशी चयन की टास्क पूरी कर ली गई।

 

सता रहा बगावत का खतरा
कांग्रेस के साथ ही भाजपा को भी प्रत्याशी चयन के बाद वंचित रहे दावेदारों और उनके समर्थकों की बगावत का डर सता रहा है। दरअसल, पिछली बार भी निकायों में प्रत्याशी चयन के बाद नेता-कार्यकर्ताओं ने अनदेखी का आरोप लगाते हुए ज़बरदस्त विरोध जताया था। कई निकायों में बागी हुए दावेदारों ने चुनाव मैदान में डटकर निर्दलीय नामांकन भरे और भाजपा प्रत्याशी को ही चुनौती दे डाली। इसका खामियाजा भी पार्टी को भुगतना पड़ा।


इन नेताओं की टीम दे रही ‘ग्रीन सिग्नल’
नगर निकाय चुनाव के लिए प्रत्याशी चयन को भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की टीम प्रदेश भाजपा मुख्यालय में बैठकर ग्रीन सिग्नल देने का काम कर रही है। इनमें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, राष्ट्रीय मंत्री अलका गुर्जर, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया शामिल हैं। ये टीम चुनाव के लिए नियुक्त किये गए निकाय, जिला और संभाग प्रभारियों के फीडबैक के आधार पर तीन-तीन नामों के पैनल में से किसी एक नाम पर आमराय बनाने की कवायद कर रही है।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned