राजस्थान बोर्ड: नियत तिथि पर होंगी दसवीं की शेष परीक्षाएं

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (RBSE) की दसवीं की परीक्षाएं (10th exams) रद्द नहीं होंगी। परीक्षाएं बोर्ड के पूर्व निर्धारित टाइम टेबल (Time table) के मुताबिक शुरू की जाएंगी। दसवीं बोर्ड के शेष रहे दो विषयों की परीक्षा 29 और 30 जून को ली जानी है। बोर्ड अध्यक्ष डॉ. डी.पी. जारोली ने बताया कि दसवीं की परीक्षाएं निर्धारित तिथि पर होंगी।

By: vinod

Published: 26 Jun 2020, 11:36 PM IST

अजमेर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (RBSE) की दसवीं की परीक्षाएं (10th exams) रद्द नहीं होंगी। परीक्षाएं बोर्ड के पूर्व निर्धारित टाइम टेबल (Time table) के मुताबिक शुरू की जाएंगी। दसवीं बोर्ड के शेष रहे दो विषयों की परीक्षा 29 और 30 जून को ली जानी है। बोर्ड अध्यक्ष डॉ. डी.पी. जारोली ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि राजस्थान बोर्ड की बारहवीं की परीक्षाएं ली जा रही हैं और दसवीं की परीक्षाएं भी निर्धारित तिथि पर आयोजित होंगी। राज्य सरकार द्वारा परीक्षाओं को लेकर निर्णय के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सरकार का तो हर आदेश मान्य होगा, लेकिन फिलहाल परीक्षाएं चल रही हैं और अभी तक दसवीं की परीक्षाएं भी होना नियत है।

सीबीएसई की समस्या अलग
सीबीएसई द्वारा परीक्षाएं रद्द करने पर उन्होंने कहा कि सीबीएसई का मामला अलग है। कोरोना की वजह से दिल्ली, मुंबई सहित अनेक शहरों के हालात विकट बने हुए हैं। राजस्थान में इस तरह की कोई परेशानी नहीं है। अब तक बारहवीं की परीक्षाएं लगभग ६ हजार परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य प्रोटोकॉल के अनुसार सफलता पूर्वक चल रही हैं।
इस साल नही बदला कोई सिलेबस
डॉ. जारोली ने बताया कि शिक्षा बोर्ड की पुस्तकों में सत्र 2020-21 के लिए कक्षा 10 व 12 में कोई बदलाव नहीं हुआ है। यह पुस्तकें पिछले साल से पढ़ाई जा रही हैं। उस समय किसी भी शिक्षाविद् ने इन पर कोई आपत्ति नहीं की थी। गत वर्ष राज्य सरकार द्वारा डॉ. बी.एम. शर्मा के संयोजन में गठित चार सदस्यीय राज्य स्तरीय पुनरीक्षण समिति ने पाठ्यपुस्तकों में आंशिक परिवर्तन किया था। संशोधित पुस्तकें पिछले शैक्षणिक सत्र में लागू की गई थी। पिछले वर्ष बोर्ड पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप को लेकर विधानसभा में प्रश्न पूछे गए थे। जिस पर शिक्षा मंत्री के जवाब से सदन संतुष्ट था। बीते साल भी किसी ने भी इस पर आपत्ति नहीं की थी। उन्होंने बताया कि बोर्ड पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप की शूरवीरता, पराक्रम, शौर्य, सफल नेतृत्व और संगठन क्षमता का विस्तार से उल्लेख किया गया है। इसके बावजूद पाठ्यपुस्तकों की समीक्षा समिति से इस मुद्दे पर तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी गई है।
कक्षा 9,11 में एनसीईआरटी का सिलेबस
डॉ. जारोली ने बताया कि नवीन सत्र में कक्षा 9 व 11वीं के लिए एनसीईआरटी का सिलेबस लागू किया जा रहा है । जिनकी पाठ्य पुस्तकें राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मंडल द्वारा प्रकाशित की जा रही हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned