बेनीवाल ने सीएम गहलोत को दी चुनौती, कहा- दोनों सीटों पर हारे तो इस्तीफा दें

Rajasthan Bypoll 2019: हनुमान बेनीवाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलाेत को चुनौती देते हुए कहा है कि विधानसभा की दो सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अगर कांग्रेस हारती है तो गहलोत इस्तीफा दें और खींवसर से अगर उनका भाई हारता है तो वह संसद की सदस्यता से इस्तीफा दे देंगे।

जयपुर। Rajasthan Bypoll 2019: राजस्थान में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) के नेता हनुमान बेनीवाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलाेत को चुनौती देते हुए कहा है कि राजस्थान में विधानसभा की दो सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अगर कांग्रेस हारती है तो गहलोत इस्तीफा दें और खींवसर से अगर उनका भाई हारता है तो वह संसद की सदस्यता से इस्तीफा दे देंगे।

खींवसर में CM ने 14 मंत्री और 60 विधायकों को प्रचार में लगाया

बेनीवाल ने झुंझुनू में पत्रकारों से कहा कि यह मुख्यमंत्री को सशर्त चुनौती है। साथ ही उन्होंने कहा कि खींवसर में अशोक गहलोत ने 14 मंत्री और 60 विधायकों को प्रचार में लगाया हुआ है। उन्होंने उपचुनावों में सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग का सवाल उठाते हुए कहा कि अब तक खींवसर से 200 से अधिक अधिकारी और कर्मचारियों को हटाया जा चुका है। वहीं आचार संहिता के बावजूद नागौर कलेक्टर ने दो दिन में 40 कर्मचारियों को हटा दिया। बिना कोई नोटिस और आरोपों के न केवल खींवसर, बल्कि मंडावा में भी ऐसे ही हालात हो रहे हैं। इसका जवाब जनता देगी।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर भी निशाना साधा

बेनीवाल ने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से भी चुनाव आयोग से मिलेंगे और कल इसके लिए चिट्ठी भी लिखेंगे ताकि सरकार पर लगाम लगे। उन्होंने कहा कि उनके कार्यकर्ताओं को बिना कोई अपराध के नोटिस दिए जा रहे हैं और उन्हें पाबंद किया जा रहा है। बेनीवाल ने एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव और उप चुनाव में हुए गठबंधन में पूरे प्रदेश की जनता ने देख लिया कि वसुंधरा राजे कहां थी? अभी भी कहां है? उन्होंने कहा कि यदि वह विधानसभा चुनावों में तीसरा मोर्चा खड़ा नहीं करते तो वसुंधरा राजे के खिलाफ प्रदेश की जनता वोट कांग्रेस को दे जाती। आरएलपी समेत अन्य निर्दलीय और छोटी पार्टियोंं ने ही कांग्रेस को 99 पर रोका। इसलिए एक बहुत बड़ा काम विधानसभा में तीसरे मोर्चा ने किया।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned