CM Relief Fund : निरोगी राजस्थान के लिए यूथ की कोशिश

जयपुर का यूथ इंडीविजुअल भी राहत कोष में जमा करा रहे है राशि

कोरोना वायरस ( Corona virus ) से लड़ाई में पूरा देश लॉकडाउन है। हर परिवार घरों में बंद होकर कोरोना सर्किल को तोडने में जुटा है। राज्य सरकार के साथ जनता सहयोग में सरकारी और गैर सरकारी संगठन ही नहीं बल्कि शहर का यूथ भी अपने—अपने तरीके से सहयोग कर रहा है। कई भोजन वितरित तो कई बूंद—बूंद राशि से राहत कोष को मजबूत बनाने में जुटे हैं। जयपुर के कई यूथ ऐसे भी है, जिन्होंने स्वयं मुख्यमंत्री राहत कोष ( Chief Minister Relief Fund ) कोविड—19 ( COVID 19 Coronavirus ) में छोटी—छोटी राशि जमा कराकर दूसरे यूथ को भी सहयोग के लिए अपील कर रहे है। इसी का परिणाम है कि कुछ दिनों में कोष में 25 करोड से अधिक राशि जमा हो गई। जयपुर के ऐसे ही कुछ युवाओं से बातचीत।

शिक्षक कपल ने रखी मिसाल
सरकारी स्कूल में व्याख्याता रामजीलाल और उनकी पत्नी वरिष्ठ अध्यापिका नीतू ने विभाग के जरिए एक दिन का वेतन कटाने के अलावा भी व्यक्तिगत रूप से राहत कोष में राशि ऑनलाइन जमा कराई है। दोनों का कहना है कि सरकार ने हमें नौकरी देकर पैरों पर खडा किया। परिवार को संबल मिला, तो हमें भी सरकार के साथ जनहित में जिम्मेदारी निभानी चाहिए। रामजीलाल कहते है कि जैसे ही मैंने सोशल मीडिया पर राहत राशि का जिक्र किया, तो एकाएक कम से कम 20 दोस्तों ने भी राशि जमा कराई। मैं हर व्यक्ति से अपील करूंगा कि चाहे 50 रुपए ही कराए, लेकिन कराए जरूर।

निरोगी राजस्थान के लिए एक कोशिश
सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज में हाल ही निरोगी राजस्थान का इवेंट किया। मुख्यमंत्री भी आए थे। उन्होंने शपथ भी दिलाई, तभी से मैंने प्रण लिया कि राज्यहित में जिनता मुझे से होगा, उतनी राशि राहत कोष में जमा करूंगा। यह कहना है कि इवेंट मैनेजर संजीव रंजन का। उन्होंने बताया कि सभी इवेंट मैनेजर्स को टूरिज्म स्टेट राजस्थान से बहुत दिया है, अब आपकी भी बारी है। मेरे ग्रुप फैंटास्टिक फॉर इवेंटस के सभी साथी जल्द मुहिम में जुडेंगे। खुद कराकर और से भी कराएंगे।

हम होंगे कामयाब
हाउसवाइस एकता कहती है कि प्रदेश में जरुर पॉजिटिव केस मिले है, लेकिन पॉजिटिव एनर्जी से लबरेज डॉक्टर्स की टीम से हम जरुर कामयाब होंगे। राज्य सरकार के विश्वास के साथ हमें भी सहयोग करने का मौका मिला। अन्य को भी कहूंगी कि आगे आए। राहत कोष में राशि जमा कराने का अभियान चलाए। घरों में रहें, ऑनलाइन राहत कोष में राशि जमा कराए।

आंसूओं को नहीं रोक सका
आईटी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर इंद्रस्वरूप ने बताया कि विश्व में फैले भयावह माहौल ने पहले डरा दिया। आंसू नहीं सका। लेकिन केंद्र और राज्य सरकार के प्रयासों के बीच सवाई मानसिंह अस्पताल के चिकित्सकों की अथक कोशिश ने मुझमें पॉजिटिव एनर्जी भरी। सीएम ने पहल शुरु करते ही मैंने राशि जमा कराई। अब रोजाना एक—एक दोस्त को भी प्रेरित कर रहा हूं।

Corona virus
surendra kumar samariya Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned