राहुल की किसान रैली से लोकसभा चुनाव का शंखनाद, तैयारियों में जुटे सत्ता और संगठन, एक लाख भी भीड़ जुटाने का है टारगेट

राहुल की किसान रैली से लोकसभा चुनाव का शंखनाद, तैयारियों में जुटे सत्ता और संगठन, एक लाख भी भीड़ जुटाने का है टारगेट

By: rohit sharma

Updated: 07 Jan 2019, 09:40 PM IST

जयपुर।

राजधानी के विद्याधर नगर स्टेडियम में 9 जनवरी को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी किसान रैली के जरिए प्रदेश में लोकसभा चुनावों का शंखनाद करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष का पूरा फोकस किसानों के मुद्दे पर है। विधानसभा चुनावों में पार्टी ने किसानों पर फोकस करते हुए चुनाव लड़ा था, जहां इस मु्द्दे के सहारे उन्हे तीन राज्यों में सफलता भी मिली थी। अब इसी मुद्दे को कांग्रेस लोकसभा चुनावों में भी भुनाने की तैयारी कर रही है।

 

रैली के जरिए राहुल गांधी केंद्र की मोदी सरकार पर किसानों की कर्ज माफी के लिए दबाव बनाएंगे। विधानसभा चुनावों के बाद कांग्रेस अध्यक्ष का ये पहला प्रदेश दौरा है। किसान रैली में राहुल गांधी के साथ ही कई केंद्रीय नेता भी शिरकत करेंगे।

 

वहीं दूसरी सभा स्थल को एसपीजी ने अपने सुरक्षा घेरे में ले लिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट आज सभा स्थल का दौरा कर तैयारियों का जायजा ले सकते हैं। रैली की तैयारियों को लेकर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पीसीसी चीफ सचिन पायलट प्रदेश प्रभारियों से चर्चा करेंगे। मंगलवार को कई केंद्रीय नेताओं के जयपुर पहुंचने का कार्यक्रम है। इससे पहले रविवार को किसान रैली स्थल तय होने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट और परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने सभा स्थल का दौरा व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

 

रैली में एक लाख की भीड़ वहीं दूसरी ओर रैली में एक लाख लोगों की भीड़ जुटाने का टारगेट रखा गया है। भीड़ जुटाने का जिम्मा विधायकों, मंत्रियों और विधानसभा चुनावों में प्रत्याशी रहे नेताओं को दिया गया है। भीड़ जुटाने के लिए केबिनेट और राज्य मंत्री अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में पहुंच गए हैं, और वहां बैठकें लेकर ज्यादा से ज्यादा भीड़ ले जाने के लिए नेताओं को निर्देश दे रहे हैं।

 

भीड़ जुटाने की सर्वाधिक जिम्मेदारी, राजधानी जयपुर, जयपुर देहात, सीकर दौसा और टोंक जिले के नेताओं को दी गई है। इसके अलावा लोकसभा चुनावों लड़ने के इच्छुक नेताओं के लिए भी ये परीक्षा की घड़ी है, क्योंकि रैली में भीड़ जुटाकर वे भी अपना दमखम दिखाने चाहेंगे।

 

गौरतलब है कि विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ करने की बात कही थी। राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार बनने के बाद किसानों का कर्जमाफ किया गया था।

Show More
rohit sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned