scriptRajasthan Congress leaders will get responsibility in three states | राजस्थान कांग्रेस के नेताओं को मिलेगी तीन राज्यों में चुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी, गहलोत डोटासरा भी जाएंगे प्रचार के लिए | Patrika News

राजस्थान कांग्रेस के नेताओं को मिलेगी तीन राज्यों में चुनाव प्रबंधन की जिम्मेदारी, गहलोत डोटासरा भी जाएंगे प्रचार के लिए

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में राजस्थान के मंत्रिमंडल के सदस्य, विधायक और संगठन के नेताओं को अलग-अलग सीटों की दी जाएगी जिम्मेदारी,एआईसीसी की ओर से तीनों राज्यों के लिए जल्द ही जारी होगी सूची

जयपुर

Published: January 14, 2022 10:20:35 am

जयपुर। पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनाव का रण शुरू हो गया है। अब इस रण में गहलोत सरकार के मंत्री, विधायक और संगठन के नेता भी इन तीन राज्यों में चुनाव प्रबंधन और बूथ मैनेजमेंट करते हुए नजर आएंगे। बताया जा रहा है कि गहलोत मंत्रिमंडल के तमाम मंत्री कांग्रेस पार्टी के तमाम विधायकों और संगठन के नेताओं को तीनों राज्यों में अलग-अलग चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी देने की तैयारी है।
pcc jaipur
pcc jaipur
कौनसा मंत्री, विधायक और पार्टी का नेता कहाँ प्रचार करेगा। इसका रोड मैप भी तैयार किया जा रहा है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से भी इन तीन राज्यों के लिए जल्द ही राजस्थान के नेताओं को जिम्मेदारी दी जा सकती है।
जातिगत समीकरणों के लिहाज से मिलेगी जिम्मेदारी
बताया जाता है कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में किस विधानसभा क्षेत्र में किस जाति के मतदाता की बहुलता है उसी के आधार पर राजस्थान के मंत्रियों और वरिष्ठ विधायकों को उस विधानसभा क्षेत्र में प्रचार के लिए भेजा जाएगा ताकि वे अपने सजातीय मतदाताओं को लुभाने के बाद कांग्रेस के पक्ष में ला सके।
गहलोत- पायलट, डोटासरा जाएंगे प्रचार में

पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट प्रचार के लिए जाएंगे। तीनों नेताओं के दौरे भी एआईसीसी की ओर से तैयार किए जा रहे हैं।
इसलिए भी मिलेगी राजस्थान कांग्रेस के नेताओं को चुनावी कमान

दरअसल राजस्थान कांग्रेस के नेताओं को तीनों राज्यों के प्रचार की जिम्मेदारी मिलने की संभावना इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि तीनों राज्यों प्रभारियों का संबंध राजस्थान से है। पंजाब के प्रभारी हरीश चौधरी बाड़मेर से सांसद और गहलोत सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश स्क्रीनिंग कमेटी के चेयरमैन भंवर जितेंद्र सिंह भी अलवर से हैं।
इसके अलावा उत्तर प्रदेश के सह प्रभारी जुबेर खान और धीरज गुर्जर भी राजस्थान से हैं वहीं उत्तराखंड के सह प्रभारी कुलदीप इंदौरा भी राजस्थान से है। उत्तराखंड के प्रभारी देवेंद्र यादव लंबे समय तक राजस्थान के सह प्रभारी रह चुके हैं। ऐसे वे भली-भांति जानते हैं कि राजस्थान के किस नेता का उपयोग कहां करना है।
हाल ही में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राजस्थान से संबंध रखने वाले मोहन प्रकाश को भी उत्तराखंड विधानसभा चुनाव का कोऑर्डिनेटर बनाया गया है। इस लिहाज से भी माना जा रहा है कि राजस्थान के नेताओं को इन तीनों राज्यों में चुनाव प्रबंधन की बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है।
उत्तराखंड में पहले से ही काम कर रहे हैं 20 से ज्यादा नेता
वही उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में राजस्थान कांग्रेस के कम से कम 20 नेता पहले से ही चुनाव पर्यवेक्षक की भूमिका निभा रहे हैं, इनमें राजस्थान के 10 विधायक भी शामिल हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दमरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.