राजस्थान के लिए रेल बजट निराशाजनक: पायलट 

Jaipur, Rajasthan, India
राजस्थान के लिए रेल बजट निराशाजनक: पायलट 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु की ओर से पेश किये गए रेल बजट को राजस्थान के परिदृश्य से निराशाजनक बताया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु की ओर से पेश किये गए रेल बजट को राजस्थान के परिदृश्य से निराशाजनक बताया है।  पायलट ने यहां मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि राजस्थान को इस बार के बजट से ढेर सारी उम्मीदें थी।  

पायलट ने कहा कि प्रदेश को उम्मीद थी कि नई ट्रेनों के साथ ही नई रेल लाइनों की सौगातें राजस्थान को मिलेंगी।  लेकिन एक भी नई ट्रेन या नई रेल लाईन नहीं मिलना राजस्थान के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है।  

पायलट ने कहा कि जानकारी में आया है कि कई ऐसे प्रोजेक्ट्स थे जिन्हे कैबिनेट और प्लानिंग कमीशन जैसे स्तर तक से मंज़ूरी मिल गई थी, लेकिन उनकी बजट में घोषणा नहीं होना निराशाजनक रहा। 

पायलट ने कहा कि दिल्ली-मुंबई डेडिकेटेड  फ्रेट कॉरिडोर का करीब 40 फ़ीसदी हिस्सा राजस्थान से होकर गुज़रता है।  उम्मीद की जा रही थी कि रेल मंत्री अपने बजट में इस योजना को प्राथमिकता से लेंगे, लेकिन इसको भी नज़रअंदाज़ किया गया। 

उन्होंने कहा कि भीलवाड़ा में रेल कोच फैक्ट्री का शिलान्यास हो चुका है लेकिन वहां काम ठप्प पड़ा है।  ऐसे में कोच फैक्ट्री से जुडी कोई बात नहीं करना राजनितिक द्वेषता दिखाई पड़ता है। 

पायलट ने कहा कि ये बजट 2020 का है जो अगले आम चुनाव को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। जनता को जो उम्मीदें थी उसको नज़र अंदाज किया गया है कच्चे तेल की कीमतों में कमी के बाद किराये में कमी होनी चाहिए थी जो नहीं हुआ। 

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि तेल के दाम कम होने का फायदा केंद्र सरकार ना तो रेल में और ना ही सामान्य तौर पर आम जनता को दे पाई है। इससे जनता को बहुत निराशा हुई है। 

पायलट ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की यूपीए सरकार ने जो घोषणाएँ और काम शुरू किया था उनपर मौजूदा रेल बजट मौन है। उन्होंने लालू यादव के बयान का समर्थन किया।  पायलट ने कहा कि केंद्र और प्रदेश दोनों जगह एक ही पार्टी की सरकार होने के बाद भी प्रदेश की उम्मीदों को दरकिनार किया गया है।  यहां के नेता प्रदेश की जनता को कुछ नहीं दिला पाये है। 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned