बाढ़ के हालात बने, फिर भी सूखे पड़े बांध

बाढ़ के हालात बने, फिर भी सूखे पड़े बांध
बाढ़ के हालात बने, फिर भी सूखे पड़े बांध

Ashish sharma | Updated: 21 Aug 2019, 07:11:41 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

राजस्थान ( Rajasthan ) के अधिकांश जिलों में मानसून मेहरबान रहा है। राज्य में मानसून सीजन ( Monsoon ) में अब तक औसत से 40 फीसदी तक ज्यादा बारिश ( Rain ) हो चुकी है लेकिन फिर भी कई बांध ( Dam ) खाली पड़े हुए हैं। इन बांधों को मानसून की मेहरबानी का इंतजार है ताकि ये भी बीसलपुर ( Bisalpur Dam water Level ) के साथ कुछ अन्य बांधों की तरह लबालब हो सकें। राज्य में प्रमुख बांधों की बात करें तो बांधों में औसत रूप से 87 फीसदी पानी ( Water Level ) आ चुका है लेकिन औसत से ज्यादा बारिश होने के बावजूद अभी भी कई बांधों के फूल भरने का इंतजार किया जा रहा है।

 

 

जयपुर
राजस्थान ( Rajasthan ) के अधिकांश जिलों में मानसून मेहरबान रहा है। राज्य में मानसून सीजन ( Monsoon ) में अब तक औसत से 40 फीसदी तक ज्यादा बारिश ( Rain ) हो चुकी है लेकिन फिर भी कई बांध ( Dam ) खाली पड़े हुए हैं। इन बांधों को मानसून की मेहरबानी का इंतजार है ताकि ये भी बीसलपुर ( Bisalpur Dam water Level ) के साथ कुछ अन्य बांधों की तरह लबालब हो सकें। राज्य में प्रमुख बांधों की बात करें तो बांधों में औसत रूप से 87 फीसदी पानी ( Water Level ) आ चुका है लेकिन औसत से ज्यादा बारिश होने के बावजूद अभी भी कई बांधों के फूल भरने का इंतजार किया जा रहा है।

आपको बता दें कि राजस्थान में इस साल एक जून से लेकर 20 अगस्त तक कुल 549.19 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है जबकि सामान्य तौर पर यहां औसत रूप से 391.99 मिलीमीटर बारिश की उम्मीद इस अवधि तक की जाती है। इस तरह राज्य में औसत से 40 फीसदी ज्यादा बारिश अब तक रिकॉर्ड की जा चुकी है। हाड़ौती समेत अन्य स्थानों पर सामान्य से ज्यादा बारिश से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए थे।
अभी 169 बांध हैं खाली
राजस्थान में कुल 810 बांध हैं। इनमें से 288 बांध ही अभी तक फूल हुए हैं। इनमें से 353 बांध आंशिक रूप से भरे हैं। जबकि 169 बांध अभी भी खाली पड़े हुए हैं। आपको बता दें कि राज्य में दक्षिणी पश्चिम मानसून से अच्छी बारिश होती है।
जुलाई में आ गया था मानसून
दक्षिणी पश्चिमी मानसून ने राजस्थान में 2 जुलाई को प्रवेश किया था। 19 जुलाई तक मानसून पूरे प्रदेश में छा गया था और इसके बाद राज्य में अच्छी बारिश का सिलसिला शुरू हो गया था। राजस्थान में अब तक टोंक का बीसलपुर, बांसवाड़ा का हारो बांध, दौसा का मोरेल बांध, प्रतापगढ़ का जाखम बांध ही फूल भरकर ओवरफ्लो हुए हैं।

राज्य में बांधों की आज की स्थिति
—राज्य में कुल हैं 810 छोटे बड़े बांध
—इनमें से 288 बांध ही अभी पूरे भरे
—169 बांध अभी तक पड़े हैं खाली
—353 बांध आंशिक रूप से भरे
—कोटा के जवाहर सागर में 77.46 फीसदी पानी
—कोटा बैराज में अभी 95.33 फीसदी पानी
—धौलपुर का पार्वती डेम 54.39 फीसदी भरा
—जवाई बांध अभी 33.33 फीसदी ही भरा
—मेजा डेम में सिर्फ 4.90 फीसदी पानी
—राजसमंद बांध में सिर्फ 17.41 फीसदी पानी
—जयसमंद डेम में सिर्फ 51.06 फीसदी पानी

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned