पायलट बोले, रेप पीड़ित और आरोपी का एचआइवी टेस्ट हो जरुरी

बलात्कार के बाद आरोपी व पीड़ित का एचआइवी व यौन संक्रमित बीमारियों का परीक्षण अनिवार्य हो, इस पर विचार कर रही सरकार - सचिन पायलट

 

जया गुप्ता / जयपुर। बलात्कार के बाद आरोपी व पीड़ित का एचआइवी व यौन संक्रमित बीमारियों का परीक्षण अनिवार्य करने पर राज्य सरकार विचार कर रही है। लंदन से वापस लौटकर पत्रकारों से बातचीत में उप मुख्यमंत्री व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने हाल ही में जयपुर में सामने आए बलात्कार के बाद बच्ची के एचआइवी पीडि़त होने के मामले पर कहा कि बलात्कार के बाद इस तरह की जांच किए जाने का प्रावधान अभी नहीं है। यह बात सच है कि जांच के अभाव अंजाने में बहुत सारे नकारात्मक परिणाम सामने आ सकते हैं। जांच जरुरी हो, इस पर प्रदेश सरकार पूरा विचार करेगी।

मुख्य न्यायधीश की बात से सहमत

हैदराबाद मामले पर मुख्य न्यायाधीश की टिप्पणी पर पायलट ने कहा कि वे उनसे पूरी तरह सहमत हैं। आरोपियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। मगर बेहतर रहता है कि कम समय में न्यायालय में ट्रालय किया जाता। अगर वे आरोपी पाए जाते तो उन्हें फांसी के फंदे पर लटकाते।

न्याय का काम न्यायपालिका को ही काम करना चाहिए। लेकिन यह भी सच है कि जब विलम्ब होता है, पीडि़त परिवारों में निराशा के भाव आने लगते हैं। इस घिनौने अपराध को करने वाले व्यक्ति को मानवता की श्रेणी से हटा देना चाहिए। यह जांच का विषय है कि जब एनकाउंटर हुआ, तब क्या वे लोग पुलिस पर आक्रमण कर रहे थे, क्या वे हथियार से लैस थे। अपनी सुरक्षा में एनकाउंटर किया तो अलग मामला है। मगर जानबूझकर किया गया तो जांच की जानी चाहिए।

Deepshikha Vashista
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned