विधायक जी! 2017 में पूरा होना था हैरिटेज वॉक वे का काम, लोगों को अब तक इंतजार

www.patrika.com/rajasthan-news/

By: dinesh

Published: 27 Oct 2018, 02:59 PM IST

- अश्विनी भदौरिया
पांच साल पहले जब जनता ने अपने जनप्रतिनिधियों को चुनकर विधानसभा भेजा था तो उनसे इतनी सी उम्मीद तो की थी कि मूलभूत सुविधाओं में सुधार होगा। पांच साल में कितने बदले हमारे विधानसभा क्षेत्र, यह जानने के लिए राजस्थान पत्रिका टीम ने किशनपोल क्षेत्र में पड़ताल की। इस दौरान कई जगह विकास का दावा धराशायी नजर आया। कहीं अतिक्रमण पसरे हुए थे, कहीं आवासीय इलाके में व्यावसायिक कॉम्पलेक्स। कुछेक जगह चमचमाती सडक़ें दिखीं लेकिन जब लोगों से पूछा तो जवाब मिला-वीआइपी इलाका है यहां तो होगा ही...।

किशनपोल विधायक मोहन लाल गुप्ता (Mohan Lal Gupta) अपने पड़ोसी विस क्षेत्र सिविल लाइन्स में रहते हैं। जहां रहते हैं, उसके सामने विकसित पार्क है। साफ सफाई भी आसपास बेहतर है। हालांकि ऐसी व्यवस्था उनके खुद के विधानसभा क्षेत्र में नहीं दिखती।

ड्रेनेज: बारह भाइयों का चौराहा, बाबा हरिश्चंद्र मार्ग, खजाने वालों का रास्ता, नींदड़ रावजी का रास्ता, जयलाल मुंशी का रास्ता में तो ड्रेनेज सिस्टम फेल हो चुका है।

पानी: जालूपुरा में पानी की सबसे ज्यादा दिक्कत है। इसके अलावा स्वामी बस्ती, पेंटर कॉलोनी में तो गर्मियों में दस दिन तक पानी नहीं आता। पुराने शहर में कई जगह गंदा पानी आने की दिक्कत है।

सफाई: घर-घर कचरा संग्रहण के बाद भी खुले में कचरा पड़ा रहता है। इससे व्यापारियों में भी रोष है। व्यापारियों का कहना है कि दिन में 11 बजे के बाद कचरा उठता है। इससे परेशानी होती है।

शिक्षा: माली कॉलोनी में एक स्कूल की इमारत जर्जर दिखी। यहां लोगों ने बताया कि स्कूल को दूसरे स्कूल में मर्ज कर दिया गया है। दूसरे स्कूल जाते समय माली कॉलोनी में एक स्कूल दिखा। जहां एक ही छत के नीचे पांच कक्षाएं चल रही थीं।

अतिक्रमण: विस क्षेत्र के जौहरी बाजार, चांदपोल बाजार, किशनपोल बाजार, नाहरगढ़ रोड बाजार सहित अन्य बाजारों में अतिक्रमण की मार है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned