राज्य कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 5 फीसदी बढ़ा

कोरोना के कहर के बीच राजस्थान में राज्य कर्मचारियों के लिए खुशखबर है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर राज्य सरकार ने कर्मचारियों को देय महंगाई भत्ते तथा पेंशनरों के लिए महंगाई राहत दर में 5 प्रतिशत की वृद्धि की है।

By: chandra shekar pareek

Published: 27 Mar 2020, 07:08 PM IST

पिछले वर्ष की जुलाई से लागू होगा निर्णय
कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते एवं महंगाई राहत दर में यह बढ़ोत्तरी 1 जुलाई, 2019 से लागू होगी। इस वृद्धि से लगभग 8 लाख कर्मचारी एवं 4.40 लाख पेंशनर्स लाभान्वित होंगे।
वेतन भत्ता बढ़कर 12 से 17 प्रतिशत
वर्तमान में राज्य कर्मचारियों को वेतन का 12 प्रतिशत महंगाई भत्ता देय है। इस वृद्धि के बाद भत्ता बढ़कर 17 प्रतिशत हो गया है। बढ़े हुए महंगाई भत्ते का लाभ राज्य कर्मचारियों के अतिरिक्त कार्य प्रभारित कर्मचारियों, पंचायत समिति, जिला परिषद के कर्मचारियों तथा राज्य के पेंशनरों को भी देय होगा।
कर्मचारियों के पीएफ खाते में जमा होगा
एक जुलाई, 2019 से 29 फरवरी, 2020 तक बढ़े हुए महंगाई भत्ते की राशि संबंधित कर्मचारियों के सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की जाएगी तथा 1 मार्च, 2020 से महंगाई भत्ते का नकद भुगतान दिया जाएगा।
पेंशनरों को मिलेगा भत्ते का नकद भुगतान
पेंशनरों तथा 1 जनवरी, 2004 एवं उसके बाद नियुक्त राज्य कर्मचारियों को बढ़े हुए महंगाई भत्ते/महंगाई राहत का भुगतान नकद देय होगा। महंगाई भत्ते में इस वृद्धि से राज्य सरकार पर वित्तीय वर्ष 2020-21 में लगभग 3417 करोड़ रुपए का अतिरिक्त वित्तीय भार पड़ेगा।
निजी अस्पतालों को तैयार रहने के निर्देश
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच प्रदेश के सभी निजी चिकित्सालयों के संचालकों, सोसायटी या ट्रस्ट की ओर से चलाए जा रहे निजी व अन्य चिकित्सालयों से कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अपने चिकित्सालयों को आंशिक या पूर्ण रूप उपलब्ध कराने और संस्थानों में कार्यरत चिकित्सक, नर्सिंगकर्मी एवं अन्य पैरामेडिकल स्टाफ की ओर से पूर्ण सहयोग करने का आग्रह किया है।
वैश्विक महामारी घोषित हो चुका कोरोना
डॉ. शर्मा ने कहा कि विश्वभर में कोरोना वायरस से संक्रमण के चलते विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। उन्होंने बताया कि राजस्थान में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सभी जन साधारण को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, राजस्थान सरकार की ओर से दिशा-निर्देश जारी किए जा चुके हैं।
वैकल्पिक व्यवस्थाओं में जुटा महकमा
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए यथासंभव प्रयास किए जा रहे हैं। संक्रमण की आशंका को ध्यान में रखते हुए वैकल्पिक व्यवस्थाएं भी की जा रही हैं।
संक्रमण की आशंका और बढ़ी, तैयारी पूरी
संक्रमण की आशंका को देखते हुए राज्य सरकार ने राजकीय चिकित्सा संस्थानों पर उपलब्ध उपचार की सुविधाओं के साथ ही वैकल्पिक व्यवस्थाओ की पूर्व तैयारी आवश्यक हैं।

chandra shekar pareek Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned