मौसम अपडेट: राजस्थान में जारी रहेगा भारी बारिश का दौर

राजस्थान में मानसून की विदाई से पहले जमकर मेहर बरस रही है। प्रदेश के हाड़ौती में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज हो रही है ।

By: Vinod Chauhan

Updated: 19 Sep 2021, 02:33 PM IST

जयपुर। राजस्थान में मानसून की विदाई से पहले जमकर मेहर बरस रही है। प्रदेश के हाड़ौती में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज हो रही है । बड़ी बात यह है कि मानसून की इस बारिश में पश्चिमी राजस्थान के कुछ इलाके भी तरबतर हो रहे हैं।

मौसम विभाग की माने तो हाडौ़ती में कई बांधों के गेट अब तक खोलकर पानी की निकासी लगातार जारी है। जबकि अधिकतर नदियां उफान पर चल रही हैं। इसके चलते डूब क्षेत्र के आसपास रहने वाले सैकड़ों लोगों को चेतावनी जारी की गई है। पानी की अधिकता के चलते की मार्ग शनिवार से ही अवरूद्ध पड़े हैं। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर रखी है कि अगले चार दिन तक भारी से अति भारी बारिश हो सकती है। पिछले 24 घंटे के दौरान बारिश की बात की जाए तो पूर्वी राजस्थान में भीलवाड़ा में 156 एमएम और पश्चिमी राजस्थान के मारवाड़ जंक्शन, पाली में 74 एमएम बारिश दर्ज की गई है।

राजस्थान में सितंबर के अंत तक भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है और बारिश की सक्रियता के चलते जोर पूर्वी राजस्थान के हाड़ौती में सबसे ज्यादा है। बूंदी के गुढाबांध के 10 गेट खोलकर 8-8 फीट तक पानी की निकासी की जा रही है। उधर, मेज नदी उफान पर है। नदी किनारे रहने वालों को अलर्ट जारी किया गया है। दबलाना से बूंदी और धोवड़ा से बूूंदी मार्ग अवरुद्ध हो गया है। कालीसिंध बांध के शनिवार को 14 गेट खोलकर 2 लाख 20 हजार क्यूसेक पानी लगातार निकाला गया था और रविवार को भी 10 गेट खोल रखे हैं। अभी भी बांध से 2 लाख क्यूसेक पानी की निकासी जारी है। कालीसिंध नदी में पानी कीी आवक जारी रहने के कारण ढीबरी के निकट पुलिया पर आ गया है, जिससे आवागमन बाधित हो रहा है। कोटा जाने वाले वाहनों को वाया सीसवाली-अंता होकर निकाला जा रहा है।

मौसम विभाग की माने तो रविवार को उदयपुर, डूंगरपुर, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, राजसमंद में कुछ स्थानों पर अति भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है जबकि अजमेर, सिरोही, जयपुर, टोंक, बूंदी, सवाईमाधोपुर, प्रतापगढ़, जालौर, पाली, नागौर और चित्तौड़गढ़ में भारी बारिश की संभवना है।

बीसलपुर का जलस्तर बढ़ेगा
बीते 24 घंटे के दौरान भीलवाड़ा में हुई 156 एमएम बारिश का असर सोमवार से बीसलपुर बांध में दिखाई देगा। बीसलपुर बांध का जलस्तर रविवार सवेरे बढ़ेकर 310.88 आरएल मीटर हो गया है। उधर, बीसलपुर के भराव क्षेत्र में बह रही त्रिवेणी नदी का जलस्तर 3.60 मीटर हो गया है। त्रिवेणी पहले 3.40 मीटर पर थी। माना जा रहा है कि सोमवार तक 3 से 4 सेंटीमीटर पानी और आ सकता है।

मानसून की सक्रियता रहेगी जारी
मौसम केन्द्र जयपुर की माने तो राजस्थान के दक्षिणी भागों में मानसून की सक्रियता अगले तीन चार दिनों तक बनी रहेगी। इस दौरान उदयपुर संभाग के जिलों में कहीं कहीं भारी बारिश व एक-दो स्थानों पर अति भारी बारिश होने की संभावना है। जोधपुर संभाग के पाली, जालौर व जोधपुर जिलों में भी आगामी दो दिनों के दौरान मेघगर्जन के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा राज्य के शेष भागों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश आगामी चार-पांच दिन होने की संभावना है। बीकानेर संभाग के कुछ भागों में 20 से 23 सितंबर के दौरान हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है।

यूं रहेगा मौसम का मिजाज
19 सितंबर को उदयपुर, डूंगरपुर, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, राजसमंद में कुछ स्थानों पर अति भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है जबकि अजमेर, सिरोही, जयपुर, टोंक, बूंदी, सवाईमाधोपुर, प्रतापगढ़, जालौर, पाली, नागौर और चित्तौड़गढ़ में भारी बारिश की संभवना है।

20 सितंबर को सिरोही, उदयपुर, डूंगरपुर, चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, जालौर, पाली और नागौर में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है।

21 सितंबर को सिरोही, बांसवाड़ा, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा में भारी बारिश की संभावना है, जबकि पश्चिमी राजस्थान के लिए अलर्ट जारी नहीं किया गया है।

22 सितंबर को सिरोही, झालावाड़, चित्तौड़गढ़, उदयपुर प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, जालौर,श्रीगंगानगर बीकानेर, जैसलमेर, नागौर जिले में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है।

Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned