राजस्थान के कई जिलों में बाढ़ के हालात, सेना ने संभाला मोर्चा, जानें किन बांधों के कितने गेट खोले

राजस्थान के कई जिलों में बाढ़ के हालात, सेना ने संभाला मोर्चा, जानें किन बांधों के कितने गेट खोले

Pushpendra Singh Shekhawat | Updated: 15 Sep 2019, 07:41:47 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

झालावाड़-कोटा में बाढ़ के हालात, सेना ने संभाला मोर्चा, आधा दर्जन गांव कराए खाली, बीसलपुर बांध के 8 गेट खोले

 

जयपुर। वागड़ के बाद अब हाड़ौती में भी भारी बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है। झालावाड़ के डग, पिड़ावा और चौमहला में गांव जलमग्र हो गए। ऐसे मेे सेना ने मोर्चा सभांल लिया है। इसी के साथ तीनों जगहों पर आधा दर्जन गांवों को खाली करा दिया है। प्रदेश में सर्वाधिक बारिश डग में 8.96 इंच बारिश हुई। पिड़ावा में 7.64 और चौमहला में 5.52 इंच बारिश दर्ज की गई। झालावाड़ में कालीसिंध, चंबल, चाचूर्णी, क्षिप्रा सहित अन्य नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। इधर, भीमनी गांव में मकान ढह गया। मलबे में दबने से मान सिंह (40) की मौके पर मृत्यु हो गई। चौमहला में रेल मार्ग पूरी तरह से बंद रहा।

कोटा बैराज के 13 साल बाद सभी 19 गेट खोलकर 6 लाख 19 हजार 700 क्यूसेक पानी की निकासी की गई। चम्बल किनारे बसी दर्जनों कॉलोनियां जलमग्न हो गई हैं। एनडीआरएफ की टीम बुलाई गई है। कोटा में मानसून की कुल बारिश का 40 साल का रिकॉर्ड टूट गया है। यहां अभी तक 1385 एमएम बारिश हो चुकी है, 1980 में 1124 एमएम बारिश हुई थी।

किस बांध से कितने पानी की निकासी
- गांधीसागर बांध : 19 गेट : 4 लाख 85 हजार क्यूसेक
- राणाप्रताप सागर बांध : 17 गेट : 5 लाख 41 हजार 696 क्यूसेक
- जवाहरसागर बांध : 15 गेट : 6 लाख 13 हजार क्यूसेक
- कोटा बैराज : 19 गेट : 6 लाख 19 हजार 700 क्यूसेक
- कालीसिंध बांध के 21 गेट खोलकर 4 लाख 81 हजार 600 क्यूसेक

वांगड़ में दूसरे दिन भी आफत की बारिश, तीन बहे, एक की मौत
प्रतापगढ़ में शुक्रवार सुबह 8 बजे से शनिवार शाम 5 बजे तक उपखंड क्षेत्र में 16 इंच बारिश हो चुकी थी। अरनोद उपखंड के बेड़मा गांव में पुलिया पार करते तीन लोग बह गए। इसमें से एक की मौत हो गई। दो ने पेड़ से लटककर जान बचाई। बांसवाड़ा जिले के माही बांध के सभी गेट नौ मीटर तक खोल दिए। दानपुर कस्बे की आधा दर्जन बस्तियों में पानी घुस गया। चित्तौडगढ़़ में शहर के मध्य से गुजर रही गंभीरी नदी में शनिवार सुबह बांध से 37 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इससे दोपहर करीब 2 बजे नदी की पुलिया पर पानी खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया। शहर में बाढ़ का खतरा देखते हुए अलर्ट जारी कर दिया गया।

बीसलपुर बांध के 8 गेट खोले
बीसलपुर बांध के 8 गेट खोल कर बनास नदी में एक लाख 44 हजार 240 क्यूसेक पानी प्रति सेकंड बनास नदी में छोड़ा गया, जिसे शाम 4 बजे तक वापस कम कर दिया गया है। सीजन में पहली बार एक साथ 8 गेट खोलने व बांध से बनास नदी में लगभग डेढ़ लाख क्यूसेक पानी छोडऩे के कारण बनास नदी पूरे वेग से बहने लगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned