Good News : तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा 2012 पर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, हो सकता है आपका भी चयन

राजस्थान उच्च न्यायालय ने तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा 2012 में अब तक किसी भी कारण से रिक्त पद को भरने की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया, राज्य सरकार ने निकाली थी 41 हजार अध्यापकों की भर्ती

कमलेश अग्रवाल / जयपुर। राजस्थान उच्च न्यायालय ने तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा 2012 में अब तक किसी भी कारण से रिक्त पद को भरने की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया है। परीक्षा के जरिए 41 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती होनी थी। परीक्षा परिणाम के बाद मेरिट को लेकर उच्च न्यायालय में याचिका दायर हुई थी।

तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के परीक्षा परिणाम के बाद मामला न्यायालय पहुंचा। जिसमें कुछ प्रश्नों के उत्तर को चुनौती दी गई। इसके बाद न्यायालय के आदेश पर संशोधित परिणाम के आधार पर नई मेरिट तैयार की गई। लेकिन न्यायालय ने कहा कि ऐसे अभ्यर्थी जिनको नियुक्ति दी जा चुकी है उनको हटाया नहीं जाएगा और शेष को नई मेरिट के आधार पर नियुक्ति दी जाए। इसके बाद कुछ अभ्यर्थी फिर से न्यायालय पहुंचे और कहा कि उनसे कम अंक वालों को नियुक्ती दी गई है जो उनके अधिकारों का हनन है जिस पर न्यायालय ने ज्यादा अंक वालों को खाली पदों पर नियुक्ती देने के आदेश दिए।

उच्च न्यायालय में नमोनारायण शर्मा सहित अन्य की याचिका पर सुनवाई के दौरान एडवोकेट विज्ञान शाह ने कहा कि बड़ी संख्या में चयनित अभ्यर्थियों ने पद ग्रहण नहीं किया है ऐसे में शिक्षा विभाग विज्ञप्ती में खाली रहे पदों पर नियुक्ति दे सकता है उच्च न्यायालय ने पूर्व में इसी तरह का आदेश दे रखा है। जिस पर न्यायाधीश सबीना और न्यायाधीश एनएस ढड्ढा ने आठ सप्ताह में अध्यापक भर्ती 2012 में खाली रहे पदों की गणना करने और उनको भरने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए।


पता करें कितने पद हुए रिक्त

परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद बड़ी संख्या में कई कारणों से चयनित अभ्यर्थियों ने नियुक्ति नहीं ली और कई अभ्यर्थियों का दूसरी परीक्षा में चयन हो गया। ऐसे में 41 हजार पदों में से बड़ी संख्या में पद रिक्त हो गए हैं। न्यायालय ने राज्य सरकार को खाली पदों की संख्या जुटाने के बाद उनको भरने के आदेश दिए हैं।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned