Good News : 4 दिसम्बर को 'बुधवार उत्सव', 42 शहरों में ग्राहक खरीद सकेंगे अपना मनपसंद घर

'बुधवार उत्सव' में खुलेगा किस्मत का लिफाफा, 10 हजार से आवासों को बेचने की तैयारी है मंडल की इस योजना के तहत, जो ज्यादा बोली लगाएगा, उसे मिलेगा आशियाना

By: pushpendra shekhawat

Published: 03 Dec 2019, 08:15 AM IST

अश्विनी भदौरिया / जयपुर. राजस्थान आवासन मंडल ( Rajasthan Housing Board ) दूसरे फेज में राज्य भर 10 हजार से अधिक आवासों को बेचने की तैयारी में है। पिछले ऑनलाइन ऑक्शन में मंडल ने राज्य भर में 1010 आवास 162 करोड़ रुपए में बेचे थे। इस बार मंडल ने ग्राहकों के बीच प्रतिस्पर्धा को बढ़ा दिया है। चार दिसम्बर से शुरू हो रहे बुधवार उत्सव में सील बंद लिफाफे में जो आवास की ज्यादा बोली लगाएगा, उसको आवास मिल जाएगा।

सोमवार से बुधवार शाम चार बजे तक जितने आवेदन आएंगे, उनको शाम 4:30 बजे से समिति खोलना शुरू करेगी। साथ ही जिस आवेदक को आवास मिल जाएगा उसको नीलामी के तीन दिन में विक्रय मूल्य की 10 फीसद राशि जमा करानी होगी। इसमें पहले की पांच फीसद राशि भी समायोजित की जा सकेगी।

मंडल के आयुक्त पवन अरोड़ा ने बताया कि राज्य के 42 शहरों में नीलामी उत्सव की प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो गई है। 4 दिसम्बर को लिफाफे खोले जाएंगे। शेष आवासों की सूची हर शुक्रवार को अपडेट की जाएगी। यह सूची मंडल की वेबसाइट तथा मंडल के समस्त कार्यालयों पर चस्पा की जाएगी।

सब कुछ ऑनलाइन
राज्य के 42 शहरों की जानकारी राजस्थान आवासन मंडल की वेबसाइट पर उपलब्ध है। किस योजना में कितने आवास खाली हैं और मौजूदा स्थिति उनकी कैसी है, इसके फोटो भी मंडल ने अपलोड किए हैं। साथ ही रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डे से दूरी का भी जिक्र किया है। आवेदन फॉर्म भी वेबसाइट से ही डाउनलोड करने की सुविधा है।

खास-खास

-पांच प्रतिशत अमानत राशि का बैंक ड्राफ्ट या बैंकर चैक आवेदन पत्र के साथ बोलीदाता को जमा करना होगा।

-बोलीदाता प्रत्येक सोमवार और मंगलवार को सुबह 10 बजे से शाम छह बजे तक और बुधवार को सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक क्षेत्रीय कार्यालय में प्रस्ताव दे सकेंगे।

-एक आवास पर समान दर वाले एक से अधिक आवेदन आने पर लॉटरी से फैसला किया जाएगा।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned