हाउसिंग बोर्ड के इंजीनियरों ने ली रेरा प्रावधानों की जानकारी

राजस्थान आवासन मण्डल (Rajasthan Housing Board) की ओर से शुक्रवार को ओटीएस में 'राजस्थान में रेरा चुनौतियां व समाधान' विषय पर प्रदेश स्तरीय वर्कशॉप (Workshop) का आयोजन किया गया। इसमें रेरा (राजस्थान रियल एस्टेट रेग्यूलेटरी ऑथोरिटी) (Rera) की ओर से प्रदेशभर से आए मंडल की अभियांत्रिकी शाखा के अधिकारियों को रेरा प्रावधानों के बारे में जानकारी दी गई।

By: Girraj Sharma

Published: 12 Feb 2021, 10:38 PM IST

हाउसिंग बोर्ड के इंजीनियरों ने ली रेरा प्रावधानों की जानकारी
— 'राजस्थान में रेरा चुनौतियां व समाधान' वर्कशॉप

जयपुर। राजस्थान आवासन मण्डल (Rajasthan Housing Board) की ओर से शुक्रवार को ओटीएस में 'राजस्थान में रेरा चुनौतियां व समाधान' विषय पर प्रदेश स्तरीय वर्कशॉप (Workshop) का आयोजन किया गया। इसमें रेरा (राजस्थान रियल एस्टेट रेग्यूलेटरी ऑथोरिटी) (Rera) की ओर से प्रदेशभर से आए मंडल की अभियांत्रिकी शाखा के अधिकारियों को रेरा प्रावधानों के बारे में जानकारी दी गई।
वर्कशॉप में रेरा राजस्थान के अध्यक्ष एन.सी. गोयल ने कहा कि राजस्थान आवासन मंडल रेरा प्रावधानों की सौ फीसदी पालना करने वाला पहला संस्थान हैं। उन्होंने रेरा की उपयोगिता बताते हुए कहा कि रेरा मूलतः ग्राहकों की हितों की रक्षा के लिए काम करता है। आम आदमी अपनी जिंदगी भर की पूंजी लगाकर अपने लिए घर या प्लॉट खरीदता है, ऐसे में हमारा दायित्व है कि उसके साथ कोई फर्जीवाड़ा न हो। आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने रेरा प्रावधानों में जनहित में संशोधन करने के सम्बंध में प्रस्तुतिकरण दिया, जिस पर रेरा अध्यक्ष ने सहमति व्यक्त की।

आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने कहा कि राजस्थान आवासन मंडल की ओर से प्रत्येक प्रोजेक्ट चाहे वह आवासीय हो या फिर व्यावसायिक, उसे लॉन्च करने से पहले अनिवार्य रूप से रेरा में पंजीकृत करवाया जाता है। उन्होंने बताया कि मंडल के 51 प्रोजेक्ट रेरा में पंजीकृत हुए हैं। मंडल की पूंजी ही इसमें आमजन का विश्वास है। उन्होंने कहा कि 3 दिन में प्रदेश की 18 आवासीय योजनाओं को रेरा में पंजीकृत करवाकर रिकॉर्ड स्थापित किया था। वर्कशॉप में राजस्थान आवासन मंडल के अध्यक्ष भास्कर ए. सांवत, जेडीए आयुक्त गौरव गोयल, मुख्य नगर नियोजक आर.के. विजयवर्गीय, राजस्थान आवासन मंडल की सचिव संचिता विश्नोई, वित्तीय सलाहकार रेखा भास्कर, सम्पदा प्रबंधक कश्मि कौर रॉन सहित मंडल के प्रदेशभर से आए अभियांत्रिकी शाखा के अधिकारी मौजूद रहे। रेरा कन्सलटेंट हिमांशु गोयल की ओर से रेरा प्रावधानों के बारे में जानकारी दी गई।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned