हाउसिंग बोर्ड ने 135 करोड़ रुपए में बेची 500 सम्पत्तियां

राजस्थान आवासन मंडल (Rajasthan Housing Board) ने मलमास खत्म होते ही एक पखवाडे़ में 500 सम्पत्तियां बेचकर (selling assets) 135 करोड रूपए कमाए है। इनमें बुधवार नीलामी उत्सव के तहत 430 सम्पत्तियां बेचकर 42 करोड़ 32 लाख रूपए का राजस्व प्राप्त किया, वहीं 70 प्रीमियम सम्पत्तियों को बेचकर 92 करोड़ 73 लाख रूपए कमाए है। मण्डल की ओर से जयपुर, कोटा, बीकानेर, दौसा और सवाई माधोपुर की प्रतिष्ठित योजनाओं में आवासीय व व्यावसायिक प्रीमियम सम्पत्तियों का ई-ऑक्शन किया गया।

By: Girraj Sharma

Published: 03 Feb 2021, 08:13 PM IST

हाउसिंग बोर्ड ने 135 करोड़ रुपए में बेची 500 सम्पत्तियां
— मलमास के बाद एक पखवाड़े में बेची संपत्तियां


जयपुर। राजस्थान आवासन मंडल (Rajasthan Housing Board) ने मलमास खत्म होते ही एक पखवाडे़ में 500 सम्पत्तियां बेचकर (selling assets) 135 करोड रूपए कमाए है। इनमें बुधवार नीलामी उत्सव के तहत 430 सम्पत्तियां बेचकर 42 करोड़ 32 लाख रूपए का राजस्व प्राप्त किया, वहीं 70 प्रीमियम सम्पत्तियों को बेचकर 92 करोड़ 73 लाख रूपए कमाए है।

आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने बताया कि मलमास समाप्त होने के बाद मण्डल की सम्पत्तियां खरीदने के लिए लोगों में उत्साह नजर आ रहा है। बुधवार नीलामी उत्सव के साथ मण्डल की प्रीमियम सम्पत्तियों को खरीदने के लिए खरीददारों में होड़ सी दिख रही है। मण्डल की ओर से जयपुर, कोटा, बीकानेर, दौसा और सवाई माधोपुर की प्रतिष्ठित योजनाओं में आवासीय व व्यावसायिक प्रीमियम सम्पत्तियों का ई-ऑक्शन किया गया, जिसमें लगभग 500 लोगों ने भाग लिया। इन शहरों में 70 प्रीमियम सम्पत्तियों के विक्रय से मण्डल को 92 करोड 73 लाख रूपए का राजस्व प्राप्त हुआ। जयपुर की प्रताप नगर योजना में महल रोड पर 2400 वर्ग मीटर का एक भूखण्ड 15 करोड रूपए में बिका।

आयुष मार्केट और आतिश मार्केट की 14 दुकानें बिकीं 13 करोड रूपये में
आयुक्त ने बताया कि मण्डल की ओर से प्रताप नगर में विकसित किए जा रहे आयुष मार्केट की 6 दुकानें 2 करोड़ 94 लाख रूपए में बिकीं। मानसरोवर योजना में विकसित किए जा रहे आरएचबी आतिश मार्केट में 8 शोरूम भूखण्ड 10 करोड 8 लाख रूपए में बिके। आतिश मार्केट में भूखण्ड संख्या 66 अपने निर्धारित न्यूनतम बोली मूल्य से 4 गुना कीमत में बिका। इसी तरह आयुष मार्केट में 1 भूखण्ड अपने निर्धारित बिक्री मूल्य से साढे तीन गुना कीमत में बिका।

कहां कितनी संपत्तियां बिकी
अरोड़ा ने बताया कि जयपुर वृत्त प्रथम, द्वितीय और तृतीय में 60 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 8 करोड़ 2 लाख रूपए का राजस्व मिला, जोधपुर वृत्त प्रथम और द्वितीय में 81 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 7 करोड़ 40 लाख रूपए का राजस्व मिला, कोटा वृत्त में 52 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 4 करोड़ 6 लाख रूपए का राजस्व मिला, बीकानेर वृत्त में 120 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 10 करोड 76 लाख रूपए का राजस्व मिला, उदयपुर वृत्त में 66 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 6 करोड 68 लाख रूपए का राजस्व मिला और अलवर वृत्त में 51 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 5 करोड़ 40 लाख रूपए का राजस्व मिला।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned