Rajasthan Lalit Kala: स्टेट आर्ट एग्जीबिशन घर बैठे देख सकेंगे, होगी ऑनलाइन

राजस्थान ललित कला अकादमी की पहल: हर साल होने वाली स्टेट आर्ट एग्जीबिशन अब वर्चुअल होगी।

By: surendra kumar samariya

Updated: 01 Jun 2020, 09:49 PM IST

सुरेंद्र बगवाड़ा, जयपुर

लॉकडाउन अनलॉक होना जरूर शुरू हो गया है, लेकिन अभी भी कोरोना संक्रमण ( Corona virus ) का कहर लोगों को परेशान कर रहा है। इसे देखते हुए अब राजस्थान ललित कला अकादमी 62वीं स्टेट आर्ट एग्जीबिशन को वर्चुअल तरीके से लोगों के बीच लेकर जाएगी। हर साल होने वाली इस एग्जीबिशन के लिए प्राप्त पेंटिंग्स, स्कल्प्चर्स फिलहाल अकादमी की गैलेरी में डिस्पले हो गए है, लेकिन सरकार की गाइडलाइन नहीं मिलने से विजिटर्स का आना शुरू नहीं हुआ है। ऐसे में अब अकादमी सभी कलाकृतियों को अपनी वेबसाइट पर आॅनलाइन करने की प्लानिंग करने लगा है। हाल ही आर्ट फ्राम होम एग्जीबिशन में मिली सराहना के बाद अकादमी अब और अधिक लोगों तक पहुंचने में जुटी है।

स्टेट आर्ट एग्जीबिशन में प्राप्त आवेदनों में से लगभग 107 कलाकारों की करीब 120 कलाकृतियों को डिस्प्ले किया गया है। इनमें प्रकृति के रंग भी खिले तो मानवीय समस्याओं और मुस्कुराहते पलों को भी कैनवास के जरिए दर्शक देख सकेंगे।

जानकारी अनुसार, स्टेट आर्ट अवॉर्ड पुरस्कार वितरण भी ऑनलाइन होगा। इसमें ज्यूरी और अकादमी स्टाफ सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए अकादमी ( Rajasthan Lalit Kala Akademi ) की वेबसाइट और सोशल मीडिया के जरिए एक संक्षिप्त समारोह कर पुरस्कार वर्चुअल रूप से देगी। साथ ही विजेताओं को पुरस्कार राशि सीधे उनके बैंक अकाउंट में भेज देंगे। उल्लेखनीय है कि अकादमी की ओर से 10 कलाकारों को 25—25 हजार रुपए के पुरस्कार दिए जाते है। विजेताओं के नामों की घोषणा हो चुकी है।

एग्जीबिशन के अलावा अब अकादमी अपने कार्यालय स्थित सभागार में एक स्टूडियो भी तैयार कर रही है। इसके तहत आर्ट एक्सपर्ट के लेक्चर और लाइव डेमोस्ट्रेशन भी सोशल मीडिया के जरिए लाइव होंगें। इसमें दोतरफा संवाद रखा जाएगा। बड़ा फायदा दूसरे जिलों और गांवों में रहने वाले कलाकारों को मिलेगा।

"अकादमी संचालन और एग्जीबिशन में राज्य सरकार की गाइडलाइन को फॉलो करेंगे। पर्यटन स्थलों को खोलने की गाइडलाइन जारी हो चुकी है। आशा है कि अकादमी में भी दर्शकों को आने का मौका मिलेगा। वहीं, स्टेट आर्ट एग्जीबिशन ऑनलाइन कर हर कलाकार तक पहुंच बनाने की कोशिश करेंगे।" —विनय शर्मा, प्रोग्राम अधिकारी

surendra kumar samariya Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned