ये कैसी सोशल डिस्टेन्सिंग: घेवर के मिठास की आड़ में लोगों की जान जोखिम में डालते रहे मुनाफाखोर, देखिए वीडियो

कोरोना वायरस की महामारी से बचने के लिए देश लॉकडाउन है, लेकिन मुनाफाखोर लोगों की जान जोखिम में डालने पर उतारू हैं। गणगौर पर्व पर शुक्रवार को राजधानी में ऐसी ही परेशान करने वाली करतूत सामने आई।

By: Kamlesh Sharma

Updated: 27 Mar 2020, 06:24 PM IST

भवनेश गुप्ता/ जयपुर। कोरोना वायरस की महामारी से बचने के लिए देश लॉकडाउन है, लेकिन मुनाफाखोर लोगों की जान जोखिम में डालने पर उतारू हैं। गणगौर पर्व पर शुक्रवार को राजधानी में ऐसी ही परेशान करने वाली करतूत सामने आई। इस पर्व की आड़ में कई मिष्ठान भंडार व्यापारी प्रशासन की आंख के नीचे धड़ल्ले से व्यापार करते रहे और सरकार की घर की दहलीज नहीं लांघने (सोशल डिस्टेन्सिंग) की अपील भी धरी रह गई। ऐसे व्यापारियों के कारखानों में लगातार दो दिन में घेवर बनाने और बेचने का काम चलता रहा। दुकान का शटर तो बंद रहा लेकिन उसके पीछे कारखाने में घेवर बनते रहे। कारखानों से ही घेवर बेचने का काम चलता रहा। इस दौरान लगातार लोगों की आवाजाही लगी रही। गंभीर यह है कि यह सब कुछ पुलिस प्रशासन की नाक के नीचे होता रहा लेकिन उन्होंने एक्शन लेना मुनासिब नहीं समझा। पत्रिका ने शहर के कुछ इलाकों में इसकी पड़ताल की तो यह करतूत सामने आई।

कुछ कदम पर पुलिस, घेवर खरीदने पहुंचते रहे लोग
टोंक रोड, दुर्गापुरा पर डालडा फैक्ट्री की तरफ मुड़ते ही बाईं और मिष्ठान भंडार की दुकान है। दुकान बंद थी लेकिन ठीक इसके पीछे कारखाने में घेवर बेचने का काम चलता रहा। लोग लगातार यहां पहुंचते रहे। दुकानदार भी अलर्ट मोड में रहा और लोगों से एक तरफ खड़े रहने व धीरे बोलने के लिए कहता रहा। यहां से अन्य मिठाई भी दी जाती रही। इस बीच मुख्य सड़क पर चौपहिया-दोपहिया वाहनों का जमघट लगा रहा, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोकने और पूछताछ करते की जहमत तक नहीं उठाई।

शटर डाउन, अंदर चलती रही दुकान..
महेश नगर, अस्सी फीट रोड पर शिव मंदिर के सामने स्थित मिष्ठान भंडार का शटर तो बंद रहा, लेकिन दुकान चलती रही। दुकान के बाहर एक कर्मचारी को बैठा रखा था, जो लोगों को दूसरे गेट से अंदर भेजता रहा। दुकान में 4 कर्मचारी नजर आए, जो ग्राहकों को सामान देते रहे। ज्यादातर लोग घेवर लेने पहुंचते रहे। यहां भी दूसरी मिठाई भी बेची जाती रही। दुकान के बाहर से ही पुलिस की गश्त होती रही लेकिन किसी ने भी लोगों को यहां आने से नहीं रोका।

दूध की दुकान की आड़ में..
गोपालपुरा, सूर्य नगर की मुख्य 60 फीट रोड पर मिष्ठान भंडार पर भी मिठाई बेची जाती रही। पास ही दूध की दुकान की है और उसी की आड़ में यह दुकान चलती रही। लोग दोपहिया वाहन और पैदल ही पहुंचे और घेवर खरीदकर ले जाते रहे।

सीएम-पीएम की अपील की भी परवाह नहीं...
-मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में 22 मार्च से लॉकडाउन किया और 24 मार्च से सभी तरह के वाहन संचालन पर रोक लगा दी।
-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 मार्च से तीन सप्ताह तक लॉकडाउन किया और लोगों से घर की दहलीज नहीं लांघने की अपील की।

coronavirus
Kamlesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned