राजस्थान मदरसा बोर्ड को मिलेगा वैधानिक दर्जा

राजस्थान विधानसभा ने सोमवार को राजस्थान मदरसा बोर्ड विधेयक, 2020 को ध्वनिमत से पारित कर दिया।

By: rahul

Published: 24 Aug 2020, 07:16 PM IST

जयपुर। राजस्थान विधानसभा ने सोमवार को राजस्थान मदरसा बोर्ड विधेयक, 2020 को ध्वनिमत से पारित कर दिया। अब बोर्ड को वैधानिक दर्जा मिल सकेगा।
इससे पहले अल्पसंख्यक मामलात मंत्री शाले मोहम्मद ने विधेयक को सदन में पेश किया और इस पर चर्चा हुई। इसके बाद जवाब में मंत्री शाले मोहम्मद ने कहा कि मदरसा बोर्ड की ओर से दीनी तालीम के साथ दुनियावी तालीम एवं आधुनिक तकनीकी शिक्षा के समायोजन से उर्दू अध्ययन व शिक्षण को और अधिक प्रभावी बनाया जा सकेगा। शाले मोहम्मद ने कहा कि पूर्व में 2003 में इस बोर्ड का गठन किया गया था। अब इस विधेयक से मदरसों को वैधानिक दर्जा मिल पायेगा। इससे प्रदेश में 1 लाख 94 हजार अध्ययनरत बच्चों को दी जा रही तालीम की गुणवत्ता में बढ़ोतरी होगी। आज अरसे बाद इस दिशा में सकारात्मक प्रयास किया गया है जो निश्चित रूप से मदरसा शिक्षा के क्षेत्र में कारगर सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि उर्दू हिन्दुस्तान की लोकप्रिय जुबान है। इस विधेयक से मदरसों का कायापलट होगा और तालीम की यह रोशनी मुल्क की तरक्की में सहायक साबित होगी।

rahul Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned