गहलोत सरकार का Mid Day Meal में नवाचार, अब सरकारी स्कूलों में कोई भी करवा सकेगा भोजन

गहलोत सरकार का Mid Day Meal में नवाचार, अब सरकारी स्कूलों में कोई भी करवा सकेगा भोजन

Nakul Devarshi | Updated: 14 Jul 2019, 03:27:33 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Rajasthan Ashok Gehlot Government's Mid Day Meal Scheme in Government Schools : राजस्थान की गहलोत सरकार प्रदेश में मिड डे मील में एक नया नवाचार करने जा रही है। इस नई कवायद के अनुसार अब सरकारी स्कूलों में बच्चों को सरकार के अलावा कोई भी व्यक्ति या संस्था दोपहर का भोजन करा सकेगा।

जयपुर।

राजस्थान की गहलोत सरकार ( Rajasthan Ashok Gehlot Government ) प्रदेश में मिड डे मील ( Mid Day Meal Scheme ) में एक नया नवाचार करने जा रही है। इस नई कवायद के अनुसार अब सरकारी स्कूलों ( Government School ) में बच्चों को सरकार के अलावा कोई भी व्यक्ति या संस्था दोपहर का भोजन करा सकेगा। इसे शिक्षा विभाग की ओर से सरकारी स्कूलों में बच्चों के नामांकन को बढ़ाने के साथ ही विद्यालयों के स्कूल में ठहराव के नए प्रयास के तौर पर शुरू किया जा रहा है।

 

इसी के मद्देनजर विभाग ने अब स्कूल के बच्चों को गुणवत्ता एवं पौष्टिक खाना देने के लिए चलाए जा रहे मिड डे मील में एक और नवाचार किया है। मिड डे मील आयुक्त ने इस सम्बन्ध में एक आदेश जारी किया है।


ये है आदेश में ख़ास
मिड डे मील आयुक्त की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि स्कूलों में अब आम आदमी सहित कोई भी संस्था विद्यालयों में छात्रों को खाना खिला सकेगी। स्कूलों में भी विशेष उत्सव पर लोग बच्चों को दोपहर का भोजन करा सकेंगे। इसमें कहा गया है कि स्कूलों में बच्चों को खाना खिलाने के लिए संस्था या व्यक्ति को संस्था प्रधान से स्वीकृति लेनी होगी।

 

दरअसल, पिछले दिनों जयपुर में मिड डे मील आयुक्त की अध्यक्षता में हुई बैठक में जन सहभागिता बढ़ाने के लिए यह निर्णय किया गया। नैफेड की ओर से जल्द ही स्कूलों में दालों का वितरण भी शुरू किया जाएगा। यदि दाल गुणवत्ताहीन पाई जाती है तो शिक्षक एवं संस्था प्रधान प्रारंभिक जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत करेंगे और दाल का नमूना लेकर जिला स्तर पर भेजेंगे।

 

अफसरों की माने तो सरकार की मंशा बच्चों को अच्छा खाना देने और इसमें किसी भी तरह की मदद को स्वीकार करना है। इस कवायद के लिए अब गांवों के लोगों को जागरूक किया जाएगा, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को इस नवाचार से जोड़ा जा सके।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned