राजस्थान: निकाय चुनाव काउंटडाउन शुरू, सांसदों की प्रतिष्ठा दांव पर, वार्ड-वार्ड जाकर मांग रहे वोट

20 जिलों के 90 निकायों में चुनावी रण, 28 जनवरी को होना है मतदान, सप्ताह भर का समय शेष, सांसद भी हुए ‘सुपर एक्टिव’, प्रत्याशी के पक्ष में मांग रहे वोट, निकायों में जीत से जुडी है सांसदों की प्रतिष्ठा



By: nakul

Published: 21 Jan 2021, 11:00 AM IST

जयपुर।

प्रदेश के 20 जिलों में 90 निकायों पर हो रहे चुनाव का काउंटडाउन शुरू हो गया है। सभी निकायों में 28 जनवरी को मतदान होना है, ऐसे में अब महज़ सप्ताह भर का समय शेष रह गया है। राजनीतिक दलों के साथ ही निर्दलीय प्रत्याशी भी अपने समर्थकों के साथ जीत पाने के लिए पूरा दमखम लगा रहे हैं। इस बीच अब सांसदों ने भी अपनी पार्टी को निकाय जिताने के लिए कमान संभाल ली है। खासतौर से भाजपा सांसद वार्डों में जा-जाकर पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में वोट मांगते दिखाई दे रहे हैं।


सीपी जोशी, चित्तोड़गढ़ सांसद
निकाय चुनाव में सबसे ज़्यादा सक्रीय दिखने वाले भाजपा सांसद सीपी जोशी ने अपने संसदीय क्षेत्र में ही मोर्चा संभाला हुआ है। अब तक वे चित्तोड़गढ़ की कपासन, सनवाड़ और फतहनगर नगरपालिका के विभिन्न वार्डों में जाकर लोगों से वोट अपील कर चुके हैं। वहीं वार्डों में जाकर प्रत्याशियों के चुनाव कार्यालय शुभारम्भ और कार्यकर्ताओं के बीच बैठकें कर रणनीति बनाने में भी सांसद जोशी की व्यस्तता बनी हुई है।


सुखबीर सिंह जौनापुरिया, टोंक-सवाईमाधोपुर सांसद
भाजपा सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया भी निकाय जिताने के लिए चुनावी क्षेत्रों में उतरे हुए हैं। वे आज टोंक की निवाई और उनियारा नगर पालिका के विभिन्न वार्डों में वोट मांग रहे हैं। उनका जनसंपर्क अभियान आज दिनभर चलेगा। वहीं चुनाव नज़दीक आने के साथ ही उनका कई अन्य वार्डों तक पहुंचने का कार्यक्रम भी बनाया जा रहा है।


सुभाष चन्द्र बहेडिया, भीलवाड़ा सांसद
भाजपा सांसद सुभाष चन्द्र बहेडिया ने भी निकाय चुनाव में अपनी ज़िम्मेदारी संभाली हुई है। वे भीलवाड़ा नगर परिषद् में चुनाव जिताने के मकसद से बनाई गई दो महत्वपूर्ण समितियों चुनाव प्रबंधन समिति और चुनाव समन्वय समिति में शामिल हैं। नामांकन वापसी के दौरान बागियों की मान-मनव्वल में भी सांसद बहेडिया की खासा भूमिका देखी गई। फिलहाल वे भी पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने और भाजपा प्रत्याशी के लिए वोट मांगते दिखाई दे रहे हैं।


भागीरथ चौधरी, अजमेर सांसद
अजमेर से भाजपा सांसद भागीरथ चौधरी में चुनाव मैदान में ज़बरदस्त रूप से सक्रीय दिखाई दे रहे हैं। वे अजमेर नगर निगम और किशनगढ़ नगर परिषद् के अलावा केकड़ी, सरवाड़ और विजयनगर नगरपालिका में भाजपा के जीत का परचम लहराने में महत्वपूर्ण भूमिका में हैं। सांसद चुनावी रणनीति बनाने के साथ ही वार्ड-वार्ड पहुंचकर प्रत्याशी के लिए वोट भी मांग रहे।


नरेन्द्र कुमार, झुंझुनूं सांसद
झुंझुनू से भाजपा सांसद नरेन्द्र कुमार भी निकाय चुनाव में एक्टिव मोड पर बने हुए हैं। अपने संसदीय क्षेत्र के निकायों में हो रहे चुनाव में पार्टी प्रत्याशी को जिताने की बागडोर सांसद नरेन्द्र कुमार के जिम्मे है। लिहाजा वे वार्ड-वार्ड जाकर कार्यकर्ता सम्मेलन और जनसभाएं करते हुए प्रत्याशी के लिए वोट मांग रहे हैं।


स्वामी सुमेधानंद, सीकर सांसद
सीकर से सांसद स्वामी सुमेधानंद भी पार्टी के पक्ष में वोट मांगने के लिए चुनाव मैदान में सक्रीय हैं। सांसद ने ना सिर्फ अपने संसदीय क्षेत्र सीकर की ही ज़िम्मेदारी संभाली हुई है, बल्कि बीकानेर के निकायों में भी जीत के मिशन में जुटे हुए हैं। केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल की व्यस्तता के चलते वे बीकानेर के निकायों में भाजपा का परचम फहराने में जुटे हैं।


हनुमान बेनीवाल, नागौर सांसद
नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक भी हैं। इस बार भी उन्होंने अकेले दम पर चुनाव लड़ने की घोषणा करते हुए लगभग सभी निकायों में अपने प्रत्याशी उतारे हैं। सांसद बेनीवाल ने किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए अपने समर्थकों के साथ शाहजहांपुर-खेड़ा बोर्डर पर पड़ाव भी डाला हुआ है। लेकिन वे वहां से निकलकर निकाय चुनाव में पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने और प्रत्याशियों को जिताने में भी जुटे हुए हैं।


यहाँ हो रहे हैं निकाय चुनाव
प्रदेश के जिन 20 जिलों में 90 निकायों के चुनाव हो रहे हैं, उनमें अजमेर, बांसवाड़ा, बीकानेर, भीलवाड़ा, बूंदी, प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़, चूरू, डूंगरपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालौर, झालावाड़, झुंझुनूं, नागौर, पाली, राजसमंद, सीकर, टोंक और उदयपुर जिले शामिल हैं। यहां 1 नगर निगम, 9 नगर परिषद और 80 नगर पालिकाओं में चुनाव हो रहे हैं।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned