scriptRajasthan News : नाम का क्लीन स्वीप…हाथी नहीं आ रहे हाथ…छुटभैयों को पकड़ पा रहे दाद, जानें क्या है पूरा मामला | Rajasthan News: Clean sweep in name… elephants are not coming in hands… only small ones are able to catch the kingpins, know what is the whole matter | Patrika News
जयपुर

Rajasthan News : नाम का क्लीन स्वीप…हाथी नहीं आ रहे हाथ…छुटभैयों को पकड़ पा रहे दाद, जानें क्या है पूरा मामला

सरकार नशा मुक्ति के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। लेकिन नारकोटिक्स, आबकारी व पुलिस के कारण मादक पदार्थ व शराब तस्करों पर सख्त कार्रवाई नहीं हो रही और नशा करने वाले सड़कों पर पड़े मिल जाएंगे।

जयपुरJun 22, 2024 / 12:07 pm

जमील खान

Jaipur News : जयपुर. राजधानी में ऑपरेशन क्लीन स्वीप अब खानापूर्ति बनकर रह गया। क्लीन स्वीप के तहत बड़े मादक पदार्थ तस्कर तो पकड़े नहीं जा रहे। कार्रवाई के नाम पर छुटभैयों या नशा करने वालों को पकड़कर ही इतिश्री की जा रही है। शहर में कोई ऐसा क्षेत्र नहीं…जहां नशे की सामग्री धड़ल्ले से नहीं बिक रही। इसी का नतीजा है कि शहर में नशा करने वाले चोरी, नकबजनी, लूट, अपहरण जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं।
नशा मुक्ति के नाम पर करोड़ों व्यर्थ खर्च
मादक पदार्थ तस्करों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पुलिस को ही कटघरे में खड़ा नहीं किया जा सकता। नारकोटिक्स विभाग के अधिकारियों की आंखें बंद हैं और देर रात शराब बिकने के मामले में आबकारी विभाग कम जिम्मेदार नहीं। सरकार नशा मुक्ति के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। लेकिन नारकोटिक्स, आबकारी व पुलिस के कारण मादक पदार्थ व शराब तस्करों पर सख्त कार्रवाई नहीं हो रही और नशा करने वाले सड़कों पर पड़े मिल जाएंगे। इससे सरकार के करोड़ों रुपए अभियान के नाम पर व्यर्थ खर्च हो रहे हैं। ऐसा लगता है कि दोहरी कमाई की जा रही है। पहले नशा परोसकर फिर नशा छुड़ाने के नाम पर मोटी रकम वसूली जा रही।
बड़े स्तर पर खपाई जा रही स्मैक
क्राइम ब्रांच ने मई में रामगंज में मादक पदार्थ तस्कर मो. अहसान खान के खिलाफ कार्रवाई कर 9.1 ग्राम स्मैक बरामद की। दूसरी कार्रवाई हरमाड़ा में की। यहां पर तुषार यादव को गिरफ्तार कर 6.34 ग्राम स्मैक बरामद की। जबकि शहर में देखा जाए तो बड़े स्तर पर स्मैक खपाई जा रही है और तस्करों से बरामद ग्राम में हो रही है। पुलिस कार्रवाई के ऐसे कई मामले मिल जाएंगे। जबकि राजधानी में किलो की मात्रा में मादक पदार्थ लाने वाले नहीं पकड़े जा रहे।
मासूम का अपहरण
रेलवे स्टेशन के पास 3 दिन पहले एक मासूम का अपहरण हो गया। दो घंटे बाद बच्चा सिरसी रोड पर नशे में धुत व्यक्ति के पास मिला। पुलिस ने आशंका जताई कि कुकर्म के लिए बच्चे का अपहरण किया गया। नशे में धुत होने के कारण बच्चे को सुनसान जगह नहीं ले जा सका। आरोपी नीतेश वाल्मीकि को गिरफ्तार किया।
नशे के लिए चोरी
सांगानेर थाना पुलिस ने मई में वाहन चोरी व नकबजनी के मामले में फिरोज खान को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि आरोपी को नशा करने की लत है और नशा सामग्री खरीदने के लिए अक्सर चोरी करता था। आरोपी के खिलाफ शहर के अलग-अलग थानों में 13 आपराधिक प्रकरण पहले से दर्ज थे।

Hindi News/ Jaipur / Rajasthan News : नाम का क्लीन स्वीप…हाथी नहीं आ रहे हाथ…छुटभैयों को पकड़ पा रहे दाद, जानें क्या है पूरा मामला

ट्रेंडिंग वीडियो