scriptRajasthan Patrika Pandit Jhabarmal Sharma Award 2022 | पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्याख्यानः वर्चुअल समारोह में दिए जाएंगे पत्रिका समूह के सृजनात्मक पुरस्कार | Patrika News

पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्याख्यानः वर्चुअल समारोह में दिए जाएंगे पत्रिका समूह के सृजनात्मक पुरस्कार

पत्रिका समूह की ओर से आयोजित पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्याख्यानमाला की 31वीं कड़ी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर वी. राम गोपाल राव मुख्य वक्ता होंगे।

जयपुर

Published: January 11, 2022 08:32:08 am

पत्रिका समूह की ओर से आयोजित पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्याख्यानमाला की 31वीं कड़ी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर वी. राम गोपाल राव मुख्य वक्ता होंगे। इस अवसर पर भी पत्रिका समूह के सृजनात्मक साहित्य पुरस्कारों के विजेताओं को भी सम्मानित करेंगे।
patrika.jpg
आत्मनिर्भर भारत और उच्चतर शिक्षा संस्थानों की जरूरतों को बताते हुए प्रोफेसर राव इन संस्थानों की बेहतरी को लेकर भी विचार व्यक्त करेंगे। कॉल की चुनौतियों के बीच हो रही व्याख्यानमाला में सृजनात्मक साहित्य पुरस्कार वितरण का वर्चुअल समारोह मंगलवार (11 जनवरी) सुबह 10:00 बजे से होगा, जिसका विभिन्न डिजिटल प्लेटफार्म में पत्रिका टीवी पर सीधा प्रसारण किया जाएगा। इस दौरान प्रोफेसर सवालों के जवाब भी देंगे।
मूर्धन्य साहित्यकार पत्रकार पंडित झाबरमल शर्मा की स्मृति में पत्रिका समूह वर्ष 1992 से हर साल इस व्याख्यानमाला का आयोजन कर रहा है। इस कार्यक्रम की पहली कड़ी में मुख्य वक्ता तत्कालीन उपराष्ट्रपति डॉ शंकर दयाल शर्मा थे, जो बाद में राष्ट्रपति बने। इस व्याख्यानमाला में विभिन्न क्षेत्रों में दखल रखने वाले वरिष्ठ पत्रकार न्यायाधीश चिंतक और प्रबुद्ध जन संबोधित करते रहे हैं।
इस मौके पर पत्रिका समूह अपने रिश्तो में प्रकाशित कहानियों में कविताओं में से श्रेष्ठ को प्रतिवर्ष पुरस्कृत करता है। कहानी में कविता वर्ग में प्रथम रहने पर ₹21000 और प्रशस्ति पत्र तथा द्वितीय पुरस्कार के रूप में ₹11000 दिए जाते हैं।
सृजनात्मक साहित्य पुरस्कारों के तहत कहानी में पहला पुरस्कार जयपुर के महेश कुमार की कहानी व्यक्तित्व और कविता में पहला पुरस्कार तिरुवंतपुरम (केरल) की अनामिका अनु की कविता प्रवासी प्रिय को दिया जाएगा।

कहानी में दूसरा पुरस्कार जयपुर की शकीला बानो को उनकी कहानी मासूम जीवन और कविता में दूसरा पुरस्कार झाबुआ मध्य प्रदेश की मालिनी गौतम को उनकी कहानी जीवन की कलाइयों पर तितली के रंग के लिए दिया जाएगा। ये कहानी और कविताएं पत्रिका समूह के विभिन्न परीक्षाओं में वर्ष 2021 के दौरान प्रकाशित हुई थी।
इस साल कहानी के निर्णायक मंडल में भोपाल की युवा कथाकार इंदिरा दांगी, जोधपुर के वरिष्ठ कथाकार डॉ सत्यनारायण और नई दिल्ली की कथाकार प्रोफेसर शोभा नारायण और कविता के निर्णायक मंडल में रतलाम मध्य प्रदेश के वरिष्ठ साहित्यकार अजहर हाशमी, भिलाई छत्तीसगढ़ की संतोष झांसी और जयपुर के हास्य कवि संजय झाला शामिल थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.