'अपराध कर अपनों ने भरोसा तोड़ा, पुलिस विश्वास पर खरा उतरेगी'

ऱाजस्थान पत्रिका की पहल पर 'पुलिस—पब्लिक संवाद' अभियान शुरू, डीजीपी लाठर ने अभियान का शुभारम्भ करते हुए पुलिस की ओर से दिलाया भरोसा

By: pushpendra shekhawat

Published: 26 Mar 2021, 10:03 PM IST

जयपुर। पुलिस महानिदेशक एम एल लाठर ने अपराधों के प्रति गंभीरता दिखाते हुए कहा कि आमजन के सहयोग बिना पुलिस का अपराध रोकना मुश्किल है, जितनी ज्यादा सूचना मिलेगी पुलिस का काम उतना ही आसान होगा। उन्होंने महिला अपराधों को लेकर कहा कि ज्यादातर मामलों में पहचान वाले ही भरोसा तोड़ रहे हैं, लेकिन राजस्थान पुलिस की ओर से कार्रवाई के लिए उन्होंने आमजन को आश्वस्त किया।

लाठर के इस आश्वासन के साथ ही शुक्रवार को प्रदेशभर में राजस्थान पत्रिका की पहल पर वर्चुअल तरीके से 'पुलिस—पब्लिक संवाद' अभियान शुरू हो गया। इस मौके पर प्रदेशभर से उनसे महिला और बच्चों से संबंधित अपराधों को लेकर सवाल पूछे गए, जिन पर गंभीरता दिखाते हुए उन्होंने भरोसा दिलाया कि आमजन से सूचना, शिकायत और जानकारी मिले तो स्थिति सुधारना मुश्किल नहीं है। राजस्थान पत्रिका के 'पुलिस—पब्लिक संवाद' अभियान के पहले दिन प्रदेश के हर जिले के एक—एक थाने पर पुलिस और पब्लिक के बीच संवाद हुआ।

उन्होंने आह्वान किया कि आपके पास कोई सूचना है तो पुलिस को 100, 112, 1090 टेलीफोन नंबर, ट्विटर हैंडल और व्हाट्सएप नंबर पर बताएं। उन्होंने कहा कि अपराधों से डरकर बालिकाओं पर अक्सर प्रतिबंध लगाए जाते हैं, लेकिन मां—बाप बेटे से देरी से घर आने और गायब रहने का कारण नहीं पूछते। आमजन को भी एफआइआर लिखवाते वक्त सतर्क रहना चाहिए कि भावावेश में एफआइआर नहीं लिखवाई जाए, क्योंकि सच्चे तथ्य नहीं होने पर ट्रायल में अपराधी बच निकलता है।

सुरक्षा सखी योजना शुरु होगी लाठर ने कहा कि सुरक्षा सखी सेवा शुरू की जा रही है, उसमें महिलाएं शामिल होंगी। महिलाओं को आत्मरक्षा के कौशल भी सिखाए जा रहे हैं, जिसके लिए कोई भी महिला वेबसाइट पर अपना पंजीयन करा सकती है।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned