Rajasthan Pcc - जनसुनवाई से कितना फायदा मिलेगा कांग्रेस को !

राजस्थान ( Rajasthan Pcc ) में प्रदेश कांग्रेस ने हर रोज मंत्रियों की जन सुनवाई ( Jansunwai )तो शुरू कर दी है लेकिन सवाल उठ रहा हैं कि इस जन सुनवाई का कांग्रेस( Congress) कितना फायदा उठा पाएगी

जयपुर। राजस्थान ( Rajasthan Pcc ) में प्रदेश कांग्रेस ने हर रोज मंत्रियों की जन सुनवाई ( Jansunwai )तो शुरू कर दी है लेकिन सवाल उठ रहा हैं कि इस जन सुनवाई का कांग्रेस( Congress) कितना फायदा उठा पाएगी। प्रदेश में अगले माह निकाय चुनाव होने जा रहे है। वैसे जन सुनवाई में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की संख्या लगातार कम हो रही है और इसलिए जन सुनवाई पर सवाल भी खडे हो रहे है। इस वजह से जन सुनवाई के दौरान मुख्यालय भी खाली खाली सा ही नजर आता है।

जन सुनवाई में ये भी देखने में आ रहा है कि कैबिनेट और बड़े विभागों से जुड़े मंत्री जब जन सुनवाई करते है तो कार्यकर्ता की संख्या बढ़ जाती है और जब राज्यमंत्री और कम महत्व वाले मंत्री जन सुनवाई करते है तो इनकी संख्या कम देखने में आती है। पिछले कई की जन सुनवाई में यहीं हो रहा है। पिछले तीन चार दिनों की जनसुनवाई में महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश, जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री अर्जुन बामणिया, गृह रक्षा एवं नागरिक सुरक्षा राज्यमंत्री भजनलाल जाटव, चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग ने जनसुनवाई की थी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं और आम नागरिकों की समस्या सुनी थी। इ

स दौरान न तो ज्यादा लोग थे और न ही ज्यादा कांग्रेस कार्यकर्ता थे। वहीं जब परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, जलदाय मंत्री बी डी कल्ला, कृषि और पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया की जन सुनवाई में अच्छी संख्या में कार्यकर्ता थे। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से महासचिव पूनम गोयल, सत्येन्द्र भारद्वाज, सचिव आर. सी. चौधरी और भरत शर्मा की डयूटी लगाई गई। जन सुनवाई दोपहर दो बजे तक होती है। शनिवार और रविवार को जनसुनवाई का कार्यक्रम स्थगित रहता है। अब सोमवार से जन सुनवाई शुरु होगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned