'खाकी' पर आंच आई तो लुटेरे 55 घंटे में पकड़े और हत्यारे 8 दिन में

'खाकी' पर आंच आई तो लुटेरे 55 घंटे में पकड़े और हत्यारे 8 दिन में

Mahesh Chand Gupta | Publish: Oct, 17 2018 02:35:42 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

मामले अभी और सुलझाने बाकी हैं, इन दो के सिवा भी,कई मामले ऐसे, जिनमें महीनों बाद भी पुलिस खाली हाथ

जयपुर. पुलिस चाहे तो क्या नहीं कर सकती, यह फिर सामने आ गया। पिछले दिनों मानसरोवर में एसओजी के एएसपी संजीव भटनागर की सास की हत्या और लूट की वारदात हुई तो पुलिस ने आरोपियों को ५५ घंटे में पकड़ लिया। फिर सीकर में फतेहपुर के थानेदार मुकेश कानूनगो और सिपाही रामप्रकाश की हत्या हुई तो पुलिस ने दिन-रात एक कर ८ दिन में आरोपियों को गिरफ्त में ले लिया। लेकिन इन दो मामलों में पुलिस ने जैसी चुस्ती दिखाई, अन्य मामलों में नहीं। कई मामले ऐसे हैं, जिनमें पुलिस महीनों बाद भी खाली हाथ है।
पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में तो पुलिस ने कोई कसर नहीं छोड़ी। पुलिस मुख्यालय ने पूरी ताकत झोंक दी, अपराधियों की सूचना देने वालों को ४०-४० हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा भी की। राज्य में तकनीक के लिहाज से अत्याधुनिक संसाधनों से लैस एटीएस-एसओजी को भी हत्यारों की धरपकड़ में लगा दिया गया। पुलिस ने वारदात के ८ दिन बाद तब ही चैन की सांस ली, जब पुणे और मुम्बई से आरोपियों को पकड़ लिया गया। लेकिन अन्य मामलों में पुलिस की ढिलाई और लापरवाही रह-रहकर सामने आती रही है। ऐसे में अपराधी बेखौफ होकर आमजन को शिकार बनाते रहे हैं।

--------------------------------
इन मामलों में आरोपियों का अब तक अता-पता नहीं

- ८ मार्च २०१८ : झोटवाड़ा में प्रॉपर्टी फाइनेंसर भवानी सिंह को कूरियर कंपनी का कर्मचारी बनकर उनके ही बंगले के गेट पर बुलाकर गोली मारकर हत्या कर दी गई।
- नतीजा : पुलिस हत्या में काम ली गई बाइक ही बरामद कर पाई, जो एक माह पहले चुराई गई थी। पुलिस इससे आगे नहीं बढ़ पाई।

- ७ अप्रेल २०१८ : मुरलीपुरा में बीमार पत्नी को डॉक्टर को दिखाकर बाइक से कालाडेरा घर लौट रहे राजाराम शर्मा और उॢमला देवी (45) को जेडीए की स्वप्नलोक आवासीय योजना में पता पूछने के बहाने ३ युवकों ने रोक लिया। राजाराम का गला दबा दिया, मृत समझकर सुनसान जगह पटक गए। उर्मिला ने विरोध किया तो गला दबाकर हत्या कर दी। उसके जेवर व २५ हजार रुपए लूट ले गए।
- नतीजा : चौमूं थाना पुलिस आज तक खाली हाथ ही है।

- २६ जुलाई २०१८ : झोटवाड़ा थाने से महज २०० मीटर दूर सीए छात्र अमर शर्मा को बाइक पर घर लौटते समय स्कूटी सवार शूटरों ने रोका और गोली मार हत्या कर दी।
- नतीजा : पुलिस ने लुटेरों के फुटेज निकाले और स्कूटी बरामद की। यह स्कूटी एक दिन पहले ही चुराई गई थी। इससे आगे पुलिस के पास कोई जवाब नहीं है।

- २४ सितम्बर २०१८ : भांकरोटा की खारड़ा कॉलोनी में २३ सितम्बर को दोहिते की जन्मदिन पार्टी मनाकर घर पर सोया चौथमल बलाई (६८) अगली सुबह बिस्तर पर लहूलुहान हालत में मृत मिला। कनपटी पर वार कर उसकी हत्या की गई थी।
- नतीजा : पुलिस मामले में आज तक कुछ हासिल नहीं कर पाई है।

--------------------------------
एक्सपर्ट कमेंट : इज्जत पर आंच, इसलिए तत्परता दिखाती है पुलिस

पुलिसकर्मी या उसके परिजन से कोई वारदात हो तो पुलिस की इज्जत दावं पर लगती है। सवाल उठता है कि पुलिस अपने घर में वारदात करने वाले को ही नहीं पकड़ सकती तो आमजन की क्या रखवाली करेगी। इसीलिए विभाग के मुखिया डीजीपी से लेकर थाने के कांस्टेबल तक हर पुलिसकर्मी आरोपियों को पकडऩे में जुट जाता है। पूरा सिस्टम अपराधी के खिलाफ एकजुट होकर काम करता है और उसे पकड़कर दम लेता है। जबकि आमजन के साथ वारदात होने पर पूरी पुलिस का उससे जुड़ाव नहीं होता। ऐसे में अपराधी को पकडऩे में पुलिसकर्मी कम रुची दिखाते हैं। इसीलिए आमजन को अपराधी बेखौफ होकर शिकार बनाते हैं और अपराधियों के नहीं पकड़े जाने के मामले सामने आते हैं।
- पीएन रछोया, सेवानिवृत्त आइपीएस अधिकारी


एक और पकड़ा, जुटाई सवा करोड़ की मदद

सीकर के फतेहपुर में थानेदार मुकेश कानूनगो और कांस्टेबल रामप्रकाश की हत्या के मामले में फरार २० हजार रुपए के इनामी अनुज उर्फ छोटा पंड्या को चित्तौडग़ढ़ से पकड़ लिया गया है। एडिशनल पुलिस कमिश्नर नितिनदीप बलग्गन ने बताया कि क्राइम ब्रांच ने अनुज को पकड़कर सीकर पुलिस को सौंपा है। आइजी वीके सिंह ने बताया कि जयपुर कमिश्नरेट और जयपुर रेंज के पुलिसकर्मियों ने मुकेश व रामप्रकाश के परिजनों की आर्थिक मदद का निर्णय किया। इसमें पुलिसकर्मियों ने सरकारी सहायता के अलावा करीब १.२५ करोड़ रुपए एकत्र किए हैं। गौरतलब है कि कई जिलों की पुलिस ने एक दिन का वेतन परिजनों को देने की घोषणा की थी। उधर, दोनों पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी अजय चौधरी व जगदीप उर्फ धनकड़ जाट सहित ५ लोगों को मुम्बई और पुणे से पकड़ा गया था।

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned