बंद को लेकर राजस्थान में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त, चप्पे-चप्पे पर तैनात होगी पुलिस!

बंद को लेकर राजस्थान में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त, चप्पे-चप्पे पर तैनात होगी पुलिस!

dinesh saini | Publish: Sep, 05 2018 04:31:53 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 04:37:42 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर। SC, ST Act संशोधित बिल 2018 के विरोध में 6 सितंबर को आयोजित Bharat Band के मद्देनजर राजस्थान में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है। एक ओर जहां कई संगठनों द्वारा बंद को सफल बनाने के लिए प्रदेश, संभाग और तहसील स्तर पर टीमों का गठन किया गया है। वहीं पुलिस प्रशासन ने भी बंद के दौरान शांति व्यवस्था बनाने के लिए व्यापक रणनीति तैयार की है। बंद के दौरान उपद्रव करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी, साथ ही शहर के सभी प्रमुख चौराहों में पुलिस बल तैनात किया जाएगा। जरूरत पडऩे पर धारा 144 भी लगाई जा सकती है। सुत्रों के अनुसार पुलिस प्रशासन बंद के दौरान किसी भी तरह का विवाद व हिंसा करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करेगा। आदेशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाया जाएगा। इसलिए सभी से अपील की गई है कि बंद के दौरान शांति बनाए रखें। यदि जो भी आदेश का उल्लंघन करता पाया गया उसको तत्काल गिरफ्तार भी किया जा सकता है।

 

धर्मसभा में सर्व समाज संघर्ष समिति की ओर से राजस्थान बंद का आह्वान
मंगलवार को राजधानी जयपुर में आयोजित एक धर्मसभा में सर्व समाज संघर्ष समिति की ओर से राजस्थान बंद का आह्वान किया गया। धर्मसभा में प्रदेश भर से आए लोगों ने शिरकत की।


इधर समता आंदोलन ने भी किया बंद का आह्वान
समता आंदोलन समिति की ओर से छह राष्ट्रवादी मांगों के समर्थन में छह सितंबर को राजस्थान बंद का आहृवान किया गया है। अध्यक्ष पाराशर नारायण ने बताया कि समता आंदोलन समिति प्रदेश, संभाग, तहसील स्तर पर संपर्क कर बंद को सफल बनाएगी। समिति की ओर से एससी, एसटी अत्याचार संशोधन अधिनियम—2018 निरस्त करने, एससी, एसटी से क्रिमीलयेर को बाहर करने, पदोन्नति में जातिगत आरक्षण को बंद करने, पीडित सामान्य और ओबीसी को मुआवजा देने, चुनावों में सीटो का अविधिक आरक्षण बंद करने, समता विधायक सलाहकार परिषद को कानूनी मान्यता देने की मांग की जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned