अंकित एक्टर से बना डीजल चोर, फिल्मों में 'पुलिस' समेत निभा चुका है ये किरदार, बलजीत ने खड़ी कर ली प्रॉपर्टी

Oil Theft Gang in Rajasthan : हरमाड़ा में राजावास से गुजर रही हिंदुस्तान पेट्रोलियम की पाइप लाइन से डीजल चुराने Oil Theft Gang के दो सरगनाओं को पुलिस ने पकड़ लिया है। हालांकि अभी भी मुख्य सरगना सरदार श्रवण सिंह फरार चल रहा है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में सामने आया है कि गत नवंबर-2018 से यह डीजल चोरी कर रहे थे।

By: rohit sharma

Published: 29 Jun 2019, 09:07 PM IST

जयपुर।

हरमाड़ा में राजावास से गुजर रही हिंदुस्तान पेट्रोलियम की पाइप लाइन ( HPCL Pipeline ) से डीजल चुराने वाले गैंग ( Oil Theft Gang ) के दो सरगनाओं को पुलिस ने पकड़ लिया है। हालांकि अभी भी मुख्य सरगना सरदार श्रवण सिंह फरार चल रहा है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में सामने आया है कि गत नवंबर-2018 से यह डीजल चोरी कर रहे थे। शुरुआत में इन्हें ग्राहक नहीं मिले और धीरे-धीरे नेटवर्क बना और कमाई होने लगी।

 

पुलिस उपायुक्त पश्चिम विकास शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी बलजीत सिंह उर्फ जीत विक्रम सिंह (40) निवासी मूलत: लुधियाना हाल कृष्णा विहार सिरसी रोड और अंकित दूबे (28) बाराबंकी उत्तरप्रदेश निवासी है।

 

डीजल चोरी का षड्यंत्र सरदार श्रवण सिंह ने इन दोनों और पूर्व में गिरफ्तार जीतू उर्फ जितेन्द्र के साथ मिलकर रचा था। सीआई कैलाश जिंदल, हेमराज गुर्जर और रमेश सैनी लम्बे समय से इसी गिरोह के पीछे लगे हुए थे। दोनों को गिरफ्तार कर इनके साथियों की भी तलाश कर रहे हैं।

 

जानकारी यह भी है कि आरोपियों ने डीजल चोरी के लिए लाइन में लीकेज करने के लिए बकायदा प्रोफेशनल इंजीनियर को भी रखा था। मास्टर माइंड सरदार फरार आरोपी सरदार श्रवण सिंह का बलजीत से कई सालों से व्यवहार था। सरदार कई सालों से इसी तरह का चोरी का कारोबर कर चुका है।

 

राजधानी के प्रताप नगर, शिवदासपुरा, अजमेर और कुरुक्षेत्र में मामले दर्ज हैं। सरदार ने बलजीत को डीजल चोरी की योजना के बारे में बताया। बलजीत ने ही अपने परिचित अंकित और जीतू से सरदार को मिलाया और फिर डीजल चोरी का खेल शुरू किया। चारों ने मिलकर के पाइप लाइन के आस-पास के प्लॉट देखे और फिर ओमप्रकाश और चंद्रकांत शर्मा के प्लॉट चिह्नित कर उन्हें अंकित के नाम पर किरायानामा बनाकर ले लिया। पहले मकान में जगह कम होने के कारण उन्हें ओमप्रकाश का मकान लिया और उसे सहयोगी बना लिया। पूछताछ में सामने आया है कि करीब चार महीने तो इन्हें पाइप लाइन बिछाने में ही लग गए थे। रात नौ से दो बजे के बीच ही खुदाई करते थे। फिर नवंबर से डीजल चोरी शुरू की।

 

पुलिस, नेता, गुंडा के किरदार निभा चुका अंकित

पुलिस से पता चलाकि है कि अंकित एक्टिंग का शौकीन है। उसने एक एक्ट्रेस से शादी भी थी, लेकिन तीन साल बाद ही अलग हो गए। अंकित ने 2014 में लखनवी इश्क में 2 मिनट का पुलिस अफसर का किरदार निभाया, लेकिन अभी तक रिलीज नहीं हुई। इसके बाद 2015 में टुडेज कवरेज में 8-10 मिनट का नेता का रोल निभाया, हालांकि इसका क्लाइमेक्स बचा हुआ है। वहीं, 2018 में तीर-2 में गुंडे का रोल निभाया है, जिसकी डबिंग चल रही है। इसके अतिरिक्त वह बैक स्टेज कार्य करता था।जयपुर में एसएमएस अस्पताल के सामने होटल में ठहरता था। वहीं पर बलजीत उससे मिला था।

 

 

 

डीजल चोरी से बनाई प्रॉपर्टी

पूर्व में गिरफ्तार ओमप्रकाश ने करीब चार-पांच महीने पहले अपने प्लॉट से डीजल निकालने से इंकार कर दिया था। जिसके चलते बलजीत ने बालाजी धाम में ही अपने नाम से 83-83 गज के दो प्लॉट खरीद लिए थे। उन प्लॉटों में टीनशैड लगाकर चोरी के लिए तीसरा ठिकाना बनाया था। इसके अतिरिक्त उसने कालवाड़ रोड पर भी एक फ्लेट खरीदा था। उक्त प्रॉपर्टी की पुलिस तस्दीक कर रही है। सरदार ने भी कई जगहें प्रॉपर्टी खरीदी है।

 

 

और भी किरदार आएंगे सामने

एडीसीपी बजरंग सिंह ने बताया कि डीजल चोरी का गिरोह बहुत बड़ा है। इनके नेटवर्क में कई लोग शामिल है। मुख्य सरगना सरदार श्रवण सिंह सहित डीजल खरीदने वाले पेट्रोल पम्प संचालक, लाइन बिछाने और उसमें सहयोग करने वाले कई लोगों की अभी तलाश की जा रही है। मामले में अभी तक 11 जनों की गिरफ्तार हो चुकी है।

Show More
rohit sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned