शराब पीते हैं तो खबर पढ़ लें... ये शराब पीने से अब तक आठ लोगों की हो चुकी मौत

पुलिस और अबकारी विभाग की टीमें उस ठेका संचालक को तलाश रही हैं जिसके यहां से शराब खरीदी गई थी। स्थनीय ग्रामीणों का कहना है कि वह कई महीनों से अवैध तरीके से शराब बेच रहा था। पुलिस को भी सूचना थी कि शराब बेची जा रही है लेकिन उस समय कार्रवाई नहीं की गई।

By: JAYANT SHARMA

Published: 17 Nov 2020, 11:20 AM IST

जयपुर
भरतपुर में जहरीली शराब पीने से पांच और नजदीक ही यूपी—भरतपुर बॉर्डर पर तीन लोगों की मौत होने के बाद अब प्रशासन में हडकंप मचा हुआ है। पुलिस और अबकारी विभाग की टीमें उस ठेका संचालक को तलाश रही हैं जिसके यहां से शराब खरीदी गई थी। स्थनीय ग्रामीणों का कहना है कि वह कई महीनों से अवैध तरीके से शराब बेच रहा था। पुलिस को भी सूचना थी कि शराब बेची जा रही है लेकिन उस समय कार्रवाई नहीं की गई।

लोगों का कहना है कि वह ठेके से नहीं सीधे गोदाम से ही शराब बेचता था। दरअसल कांमा थाना इलाके में स्थित गांव सुनेहरा में शराब के एक गोदाम से यह शराब ली गई थी। स्थानीय लोगों के अनुसार ठेकेदार ने गोदाम यहां बना रखा है जबकि उसका ठेका यहां से काफी दूरी पर है। ठेकेदार यहां गोदाम में सरकारी शराब की आड में कम दामों में हथकड़ शराब बेचता है और इस बारे में कई बार गामीणों ने आबकारी अधिकारियों को भी जानकारी दी है।

हथकड़ शराब पीने के कारण ही चार से पांच दिन मे आठ लोगां की मौत हो गई। पुलिस का मानना है कि बॉर्डर स्थित गावों में जिन तीन लोगों की मौत हुई वे भी यहीं से शराब खरीदकर ले गए थे। फिलहाल इसकी जांच की जा रही है। उधर इन मौतों के बाद अब मृतकों के परिजन सरकार पर आरोप लगाते हुए पच्चीस लाख रुपए और सरकारी नौकरी की मांग कर रहे हैं। वहीं आबकारी विभाग ने भरतपुर और आसपास के क्षेत्र में अवैध शराब की तलाश तेज कर दी है। जो अभियान 13 नवम्बर को खत्म किया गया था अब उसे 23 नवम्बर तक बढा दिया गया है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned