फीस जमा करा रहे है तो पहले ये खबर पढ़ लें... अब फीस के नाम पर बड़ा फ्राॅड

किसी न किसी तरीके से बैंग ग्राहक फंस ही जाते हैं और अपनी जमा पूंजी गंवा देते हैं। इस तरह की वारदात करने के बाद पुलिस के पास भी बेहद कम क्लू होते हैं। उन्हें ही फाॅलो किया जाता है और यही कारण है कि अधिकतर केस ओपन ही नहीं हो पाते और ग्राहकों का पैसा डूब जाता है।

By: JAYANT SHARMA

Published: 12 Feb 2021, 01:57 PM IST

जयपुर
साइबर ठगों ने एक और ठगी की वारदात को इतनी सफाई से अंजाम दिया है कि बैंग ग्राहक को इस बारे में भनक तक नहीं लगी। ताजा मामला चित्रकूट थाने में दर्ज किया गया है। जांच कर रही पुलिस ने बताया कि अंकित कुमार के साथ इस तरह से फ्राॅड किया गया। अंकित का भाई एक निजी काॅलेज का छात्र है। अंकित के पास फोन आया कि काॅलेज की फीस भरनी है और इसके लिए आनलाइन तरीका ही अपनाया जाना है।

मोबाइल फोन पर एक लिंक भेजा जा रहा है। इस लिंक पर क्लिक करने के बाद फीस भर देवें नहीं तो लेट फीस का चार्ज भी लग सकता है। अंकित ने मोबाइल फोन पर आया लिंक चैक किया और फोन करने वाले के कहे अनुसार इसे फाॅलो किया। लिंक को ओपन करने के लिए लिखा गया था, उसे ओपन किया तो कुछ देर के बाद फोन पर मैसेज आया। फीस तो जमा हुई नहीं उल्टे खाते से हजारों रुपए निकाल लिए गए। दुबारा जब उसी नंबर पर फोन किया जिस नंबर से फोन आया था तो वह नंबर ही स्वीच आफ निकला।

बाद में बैंक प्रबंधन और पुलिस को इसकी सूचना दी गई। गौरतलब है कि साइबर ठग ठगी के हर रोज नए तरीके अपना रहे हैं। किसी न किसी तरीके से बैंग ग्राहक फंस ही जाते हैं और अपनी जमा पूंजी गंवा देते हैं। इस तरह की वारदात करने के बाद पुलिस के पास भी बेहद कम क्लू होते हैं। उन्हें ही फाॅलो किया जाता है और यही कारण है कि अधिकतर केस ओपन ही नहीं हो पाते और ग्राहकों का पैसा डूब जाता है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned