इस राज्य में एक महीने मे ही 36 प्रतिशत तक बढ़ गए रेप.....

मुकदमों की संख्या बढने से ज्यादा जरुरी पीड़ित को न्याय दिलाना है। साल 2020 में लाॅक डाउन होने के बाद भी रेप के 5300 से ज्यादा मुकदमें प्रदेश के थानों मंे दर्ज हुए थे।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 17 Mar 2021, 12:55 PM IST

जयपुर
पुलिस थाना, एसपी आॅफिस और यहां तक कि अस्पताल.... इन तीनों जगहों पर ही रेप विक्टिम अपनी शिकायतें लेकर आती हैं लेकिन इन जगहों पर ही अब रेप होने लग गए हैं। सरकार को विपक्ष लगातार रेप और अपराध के मामलों में विधानसभा में घेर रहा है।

डीजीपी तक पुलिस को मर्यादा में रहने की सीख दे चुके हैं लेकिन उसके बाद भी हालात काबू नहीं आ रहे हैं। वर्तमान साल की बात करें तो शुरुआती दो महीनों में ही रेप के 1000 से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। जनवरी 2020 और जनवरी 2021 की ही बात की जाए तो रेप के मामलों में एक साथ ही 36 फीसदी तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। यानि साल 2020 की जनवरी में रेप के 381 मामले थे जो इस साल जनवरी मे बढ़कर 519 तक जा पहुंचे।

हांलाकि इसके लिए सीएम अशोक गहलोत ने भी पुलिस की खिंचाई की है। उनका कहना है कि थानों में आने वाली हर पीडिता का मुकदमा दर्ज किया जाए और जांच की जाए। मुकदमों की संख्या बढने से ज्यादा जरुरी पीड़ित को न्याय दिलाना है। साल 2020 में लाॅक डाउन होने के बाद भी रेप के 5300 से ज्यादा मुकदमें प्रदेश के थानों मंे दर्ज हुए थे।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned